October 20, 2021

बहुजन समाज पार्टी के नेता एंव पूर्व मंत्री हाजी याकूब के सामने आखिरकार बड़बोले और मुस्लिम कम्युनिटी के खिलाफ जहर उगलने वाले चैनल को झुकना पड़ा। हालात यह हुए कि चैनल के एक पत्रकार को पूर्व मंत्री के आवास पर जाकर माफी माँगनी पड़ी।

दरअसल हम बात कर रहे है उस राष्ट्र प्रेमी टीवी चैनल की, जो टीआरपी के खेल के चलते खुद को राष्ट्रभक्त साबित करने और मुस्लिम कम्युनिटी के खिलाफ ज़हर उगलने पूरा टेंडर पास करा लाया है। करीब दो सप्ताह पूर्व मुस्लिमों के खिलाफ नफरत भरा प्रोपगंडा चलाकर खुद को देशभक्त दर्शाने की कवायद में जुटे ‘आर भारत’ चैनल ने बसपा के  कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री हाजी याक़ूब कुरैशी को तालिबान सरगना मुल्ला उमर का बेटा दर्शाते हुए चैनल पर खबर प्रसारित कर दी थी।

हाजी याकूब को बताया गया था मुल्ला उमर का बेटा

जिसके बाद पूर्व मंत्री एंव उनके समर्थकों ने एसएसपी से लेकर वरिष्ठ अधिकारियों तक शिकायत दर्ज कराते हुए अर्नब गोस्वामी सहित दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग की और करोड़ो रूपये की मानहानि का दावा करने की बात कही। लेकिन बुधवार को अचानक इस मामले की तस्वीर बदलती दिखी और बड़बोले चैनल को पूर्व मंत्री के सामने गिड़गिड़ाना पड़ा।

पूर्व मंत्री एंव “आशिक़ ए रसूल” के नाम से मशहूर हाजी याकूब कुरैशी के आवास पर पहुँचे ‘आर भारत’ चैनल के पत्रकार ने माफी मांगते हुए इस भूल पर खेद जताया। देखा जाए तो अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के क़ब्ज़े के बाद आर भारत चैनल दिन रात अफ़ग़ानिस्तान की खबरे चला चला कर अपना मानसिक संतुलन खो बैठा था।

इसी सीरीज में एक पैनल डिबेट के दौरान चैनल ने मुल्ला उमर के बेटे मुल्ला याक़ूब की जगह हाजी याक़ूब की फ़ोटो दर्शाई, जिसके बाद यह खबर और फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।

हाजी याक़ूब कुरेशी मेरठ ज़िलें की विधानसभा से दो बार विधायक रहे हैं और बसपा की सरकार में मंत्री भी रहे हैं। उन्होनें 2019 के लोकसभा चुनाव में मेरठ लोकसभा से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था और उन्हें क़रीबन 5 लाख वोट मिले थे। हालांकि आखिर में वो चुनाव हार गए थे।

क्या कहना है हाजी याक़ूब का इस मामले के बाद…

” पिछले करीब 100 वर्षो से हमारा परिवार सामाजिक और राजनीतिक सेवा करता आया है। चैनल के जिस आदमी ने भी यह हरकत की है,उसको सबक सिखाया जाना चाहिए। इस तरह की घटिया हरकत दोबारा किसी के साथ नही होनी चाहिए। जनसेवा हमारा काम है, जिसे हम करते रहेंगे। दहशतगर्दी और आतंकवाद का हमने कभी समर्थन नही किया।- हाजी याक़ूब कुरेशी।

About Author

Khalid Iqbal