देश के बैंकिंग क्षेत्र को हिला देने वाले पीएनबी महा घोटाले की जैसे जैसे परते खुल रही हैं, वैसे -वैसे नये नये बाते सामने आ रही हैं. इलाहाबाद बैंक पीएनबी सहित देश के चार अन्य सरकारी बैंकों को लीड करता है.

  • इस घोटाले की शुरुआत 2013 में इलाहाबाद बैंक की निदेशक मंडल की बैठक में ही हो गई थी.
  • नई दिल्ली में हुई उस बैठक में गीतांजलि ज्वेलर्स के मालिक मेहुल चौकसी को 550 करोड़ रुपये देने को मंजूरी दी गई थी.
  • आभूषण कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि, नक्षत्र और गिन्नी ज्वेलरी चेन चलाने वाला मेहुल चौकसी मूलत: गुजरात के निवासी है, दोनों ही मुंबई में रहते हैं.
  • मेहुल चौकसी रिश्ते में घोटालेबाज नीरव मोदी का मामा है.
  • मामा-भांजे ने मिलकर बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगाया
  • चौकसी को बैंक की हांगकांग शाखा से भुगतान किया गया था.

नई दिल्ली के होटल रेडिसन में 14 सितंबर, 2013 को इलाहाबाद बैंक के निदेशक मंडल की बैठक हुई. इसमें भारत सरकार की ओर से नियुक्त निदेशक दिनेश दुबे ने चौकसे को 550 करोड़ लोन देने का विरोध किया. 16 सितंबर को इस बैठक की जानकारी दुबे ने भारतीय रिजर्व बैंक के तत्कालीन डिप्टी गवर्नर केसी चक्रवर्ती को दी. इसके बाद बैंक अधिकारियों को तलब भी किया गया, लेकिन इसके बावजूद मेहुल चौकसी को बैंक की हांगकांग शाखा से भुगतान कर दिया गया.

इलाहाबाद बैंक के पूर्व निदेशक दुबे बताते हैं –

केंद्रीय वित्त सचिव और आरबीआई को इस फैसले की भनक लगते ही हड़कंप मच गया था. उधर, बैंक के अधिकारी मेहुल चौकसे को सैकड़ों करोड़ देकर खुद भी करोड़ों रुपये डकारने में लगे थे, जिसके चलते मामला दब गया।

  • केंद्रीय जांच ब्यूरो  ने अरबपति ज्वैलरी डिजायनर नीरव मोदी और उनके साझेदार मेहुल चौकसी के पासपोर्ट रद्द करने की मांग की है. वे दोनों पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी 150 गारंटी पत्रों के जरिये 11,400 करोड़ रुपये से अधिक के फर्जी लेनदेन में मुख्य आरोपी हैं.

अधिकारियों ने यह जानकारी दी. आरोप है कि अरबपति आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी व उनके परिवार के कुछ सदस्यों ने पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी 150 गारंटी पत्रों के जरिये 11,400 करोड़ रुपये से अधिक के फर्जी लेनदेन किए.

  • अधिकारियों ने कहा कि पंजाब नेशनल बैंक के साथ धोखाधड़ी को लेकर इस समय सुर्खियों में चल रहा नीरव मोदी बैंक की ओर से इस मामले में शिकाय​त मिलने से काफी दिन पहले गत एक जनवरी को ही देश से बाहर चला गया था.

कहाँ है नीरव मोदी ?

  • अंग्रेज़ी चैनल ‘टाइम्स नाउ’ के सूत्रों के मुताबिक यह हीरा कारोबारी इस समय स्विट्जरलैंड में बताया जा रहा है.
  • कुछ टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार  नीरव न्यूयॉर्क के मशहूर सेंट्रल पार्क के फेसिंग वाले मैरियट एसेक्स हाउस के 36 फ्लोर पर हैं. इस स्वीट का एक दिन का किराया 75 हजार रुपये है. रिपोर्ट्स के मुतातिब यह कमरा साढ़े 67 लाख रुपये में 90 दिन के लिए बुक कराया गया है.

प्रियंका चोपड़ा द्वारा मुक़दमे की खबर निकली फ़ेक न्यूज़

इस बीच ऐसी रिपोर्ट्स भी आईं कि बॉलिवुड ऐक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने नीरव पर धोखाधड़ी का मुकदमा ठोका है, लेकिन बाद में खुद प्रियंका की तरफ से इन रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया गया. दरअसल प्रियंका ने नीरव मोदी की डायमंड कंपनी के लिए ऐड किया था.

ईडी ने किया बड़ी मिली भगत का ख़ुलासा

NBT के अनुसार – प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सूत्रों का कहना है कि सीमा शुल्क (कस्टम्स) और बैंक प्रायः फर्जीवाड़ा करनेवालों से करीबी संपर्क में रहते हैं और कोई आयातित सामान के सही दाम की जांच-परख नहीं करता है. फिर कारोबारी मोतियों से आभूषण बनाकर दाम बढ़ाकर 1,500 डॉलर का कर देता है और फिर से सप्लायर के पास ही या किसी तीसरे ग्राहक या देश भेज देता है. फिर उसे हवाला के जरिए पैसे मिल जाते हैं.
ईडी सूत्रों का कहना है कि यह बहुत बड़ा घनचक्कर ह, जिसमें लाखों-करोड़ों डॉलर में ट्रांजैक्शन होते हैं. नीरव मोदी ने सिस्टम की खामियों का भरपूर फायदा उठाया.

इनकम टैक्स विभाग ने की है बड़ी कार्यवाही

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को टैक्स चोरी जांच के सिलसिले में अस्थायी रूप से हीरा कारोबारी और उसके परिवार की 29 संपत्तियां और 105 बैंक खातों को कुर्क कर दिया. इसके अलावा विभाग ने विदेश में गैरकानूनी संपत्तियां रखने के लिए उसके खिलाफ नए कालाधन रोधक कानून के तहत मामला भी दर्ज किया है.

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *