मध्य प्रदेश में एक बार फिर स्कूल में छात्राओं के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है.यहां के आदिवासी बहुल अलीराजपुर जिले में दो शिक्षिकाओं पर कथित तौर पर 11वीं की छात्राओं के कपड़े उतरवाकर तलाशी लेने का आरोप लगा है. घटना की जानकारी छात्राओं द्वारा अपने अभिभावकों को देने के बाद दोनों छात्राओं के पिता ने एसडीएम और पुलिस थाने पर आवेदन देकर शिक्षिकाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.उधर, स्कूल प्रबंधन ने छात्राओं के इस आरोप से इनकार किया है.प्रबंधन का कहना है कि दोनों छात्राओं की सामान्य जांच की गई थी.
मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर शंकरसिंह जमरा ने बताया, ‘कन्या हायर सेकंडरी स्कूल जोबट की कक्षा 11वीं में पढ़ने वाली दो छात्राओं ने दो शिक्षिकाओं पर निर्वस्त्र कर तलाशी लेने का आरोप लगाया है.पुलिस को दी गई शिकायत में पीड़ित छात्राओं ने कहा है कि स्कूल की एक छात्रा के एक हजार रुपये गायब होने की शिकायत पर शिक्षिकाओं ने उनके कपड़े उतरवाकर तलाशी ली.
जमरा ने कहा कि अपनी शिकायत में दोनों छात्राओं ने आरोप लगाया है कि तलाशी के दौरान वे लगातार गिड़गिड़ाती रहीं, लेकिन दोनों शिक्षिकाएं नहीं मानी.छात्राओं का आरोप है कि पहले बिना कपडे़ उतारे उनकी सामान्य तलाशी ली गई.फिर उन्हें एक कमरे में ले जाकर तलाशी के नाम पर कपड़े उतरवा दिए गए.
पुलिस अधिकारी ने कहा कि इस मामले में स्कूल प्रबंधन की ओर से भी एक आवेदन सौंपा गया है, जिसमें इन आरोपों को नकारा गया है.उन्होंने कहा कि हम हर पहलू से मामले की जांच कर रहे हैं.जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. उधर, स्कूल के प्रभारी प्रिंसिपल प्रभू पंवार ने कहा कि यह सही है कि एक छात्रा के 1,000 रुपये गायब होने की शिकायत पर दोनों छात्राओं की जांच की गई है, लेकिन उनके कपड़े उतरवाने का आरोप गलत है.
बता दें की मध्य प्रदेश में स्कूल में छात्राओं के साथ बदसलूकी का यह कोई पहला मामला नहीं है.पिछले वर्ष भी मध्य प्रदेश के ही दमोह जिले के एक विद्यालय में दो छात्राओं के कपड़े उतरवाकर उनकी तलाशी सिर्फ इसलिए ली गई थी क्योंकि एक अन्य छात्रा के 70 रुपये चोरी हो गए थे.

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *