प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बेंगलुरु में भाजपा की एक रैली को संबोधित करेंगे. यह रैली पूरे कर्नाटक में 90 दिनों तक चली नवनिमार्ण यात्रा के पूरे होने के अवसर पर आयोजित की जा रही है. मोदी एक नवंबर को शुरू हुई इस तीन माह की यात्रा के संपन्न होने पर आयोजित रैली को 28 जनवरी को ही  संबोधित करने वाले थे, लेकिन उनके व्यस्त रहने की वजह से रैली चार फरवरी के लिए टाल दी गई.
 
आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए, भाजपा ने इस यात्रा का आयोजन किया था और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने इस यात्रा को हरी झंडी दिखाई थी. इसमें पार्टी कार्यकर्ताओं ने राज्य इकाई प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा के नेतृत्व में राज्य के 224 विधानसभा क्षेत्रों की यात्रा की. यहां इस वर्ष अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.
जल विवाद पर बुलाया बंद
महादायी जल विवाद को लेकर आज कन्नड़ समर्थको ने बंद बुलाया है. साथ ही विरोध प्रदर्शन की भी घोषणा  की है. हालांकि, कर्नाटक हाई कोर्ट ने इस बंद को अवैध ठहराया है. वहीं, कांग्रेस सीधे तौर पर इस प्रदर्शन का समर्थन नहीं कर रही है, लेकिन माना जा रहा है कि प्रदर्शकारियों को उसका संरक्षण प्राप्त है.
केंद्र से मिले पैसे पर कांग्रेस, भाजपा में जुबानी जंग
पीएम मोदी की रैली से पहले राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी भाजपा के बीच एक जुबानी जंग छिड़ गई है. दरअसल, भाजपा पार्टी प्रमुख अमित शाह ने दावा किया कि केंद्र ने कर्नाटक को विभिन्न योजनाओं के तहत तीन लाख करोड़ रुपया से अधिक दिया है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव और कर्नाटक के कृषि मंत्री कृष्ण बैरेगौड़ा ने अमित शाह की टिप्पणी को झूठ बताया.
राव ने कहा कि भाजपा के पास कर्नाटक के लोगों को पेश करने के लिए सिर्फ आधा सच है. भाजपा ऐसे कह रही है, जैसे कि इसने राज्य को तोहफे में धन दिया है, जबकि हकीकत में सभी राज्य संवैधानिक रूप से इसके हकदार हैं. बैरेगौड़ा ने कहा कि कर्नाटक के लोगों ने उस तरीके को देखा है जिसके तहत भाजपा सरकार ने 2009 से 2013 के दौरान राज्य को लूटा. उन्होंने कहा कि कर्नाटक को 10,533 करोड़ रूपया कम मिला, जिसका वह हकदार था.

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *