महाराष्ट्र

लाखों मराठाओं का जनसमूह, पूरे महाराष्ट्र में फ़ैला मराठा आन्दोलन

लाखों मराठाओं का जनसमूह, पूरे महाराष्ट्र में फ़ैला मराठा आन्दोलन

मुंबई : महाराष्ट्र में जगह जगह मराठाओं की लाखों की भीड़ एकत्रित हो कर  आन्दोलन कर रही है, पर कोई शोर शराबा नहीं क्योंकि इस समय मराठा समुदाय मूक प्रदर्शनों के ज़रिये आन्दोलन की शुरुआत पूरे राज्य में कर चुका है, गौरतलब है कि इस आन्दोलन को भारी जनसमर्थन मिल रहा है. इस  आन्दोलन की मांगों में से एक मांग कोपर्डी बलात्कार-हत्याकांड में सख्त कार्रवाई की है. पर  अब यह आन्दोलन धीरे -धीरे  आरक्षण की मांग का आन्दोलन बनते जा रहा है.
ज्ञात हो पूर्व में कांग्रेस+एनसीपी सरकार ने मराठाओं और अल्पसंख्यकों को नौकरी एवं शिक्षा में 5 प्रतिशत आरक्षण दिया था. संघ परिवार  और  भाजपा के विरोध के बाद  महाराष्ट्र में भाजपा + शिवसेना सरकार ने मराठा एवं अल्पसंख्यक आरक्षण को ख़त्म करने का फैसला लिया था.
अपना शक्ति प्रदर्शन करते हुए मराठा समुदाय के लोगों ने खारघर स्थित कोंकण संभागीय आयुक्त के कार्यालय तक मार्च निकाला और कोपर्डी बलात्कार कांड सहित कई मुद्दे उठाए . इस कांड में पीड़िता मराठा समुदाय से थी .
रायगढ़ जिले के खारघर के सेंट्रल पार्क से शुरू हुआ ‘मूक मोर्चा’ बेलापुर स्थित कोंकण भवन तक गया. भारी बारिश के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने छह किलोमीटर का सफर तय किया. उनके हाथ में भगवा झंडे थे. मार्च का हिस्सा रहीं पांच लड़कियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने बाद में कोंकण के संभागीय आयुक्त प्रभाकर देशमुख से मुलाकात की और सकल मराठा समाज की तरफ से एक ज्ञापन सौंपा. उन्होंने बलात्कार कांड के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग भी की. नवी मुंबई पुलिस ने बड़ी संख्या में अपने जवानों की तैनाती कर रखी थी, ताकि किसी तरह के उपद्रव को रोका जा सके. महाराष्ट्र की राजनीति में दबदबा रखने वाला मराठा समुदाय करीब दो महीने पहले अहमदनगर जिले के कोपर्डी में एक लड़की से बलात्कार और फिर उसकी हत्या के बाद पिछले एक महीने से राज्य के विभिन्न शहरों में मौन मार्च निकालता रहा है. पीड़ित लड़की मराठा थी जबकि कथित दोषी दलित समुदाय से थे.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *