अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कलिखो पुल का बेटा शुबांसो पुल ब्रिटेन के ब्राइटन शहर में मृत पाया गया है। कलिखो पुल की मृत्यु भी ऐसी ही रहस्यमय परिस्थितियों में 2016 में हुई थी। शुबांसो पुल कलिखो पुल की पहली पत्नी दांग्विमसाई पुल के पुत्र थे और ब्रिटेन में पढ़ रह थे। कलिखो पुल की मौत के बाद उनकी पत्नी दांग्विमसाई पुल ने जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट का रूख किया था। उन्होंने उनकी मौत को लेकर गंभीर षडयंत्र का आरोप लगाया था।

कलिखो पुल ने अपने साठ पन्नो के सुसाइड नोट में वह पूर्वोत्तर की राजनीति और दिल्ली मे बैठी सरकार और उच्चतम न्याय पालिका के गहरे और वीभत्स हो चुके चेहरे को नंगा कर दिया था।

20 फरवरी 2016 को पुल अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे, इसमें कांग्रेस के कुछ बागियों और बीजेपी ने उनकी मदद की थी। उनकी सरकार की वैधानिकता पर सवाल उठाए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 13 जुलाई 2016 को पुल के खिलाफ फैसला सुनाया और उनकी सरकार निरस्त कर दी थी।

सुसाइड नोट में पुल ने आरोप लगाया है, कि उनके हक में फैसला देने के लिए उनसे कथित तौर पर रिश्वत मांगी गई थी। रिश्वत की मांग और राजनीति में मात खाने के कुछ हफ्ते बाद पुल ने 8 अगस्त 2016 को इटानगर के अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

दो महीने बाद ईटानगर में पूर्व मुख्यमंत्री के बंगले के केयरटेकर सुशील बर्मन का शरीर उस कमरे के सामने वाले रूम में लटकता मिला।  जिसमें पुल ने कथित तौर पर खुदकुशी की थी और इस सिलसिले में अब उनके पुत्र की आत्महत्या बहुत से सवाल खड़े करती है। यह सवाल भी जज लोया के केस के सवालो की तरह अनुत्तरित रह जाने वाले है।