हरियाणा

क्षत्रिय इतिहास से छेड़छाड़ पर भडक़ी क्षत्रिय महासभा

क्षत्रिय इतिहास से छेड़छाड़ पर भडक़ी क्षत्रिय महासभा
  • राजा मिहिर भोज का नाम बदला तो प्रदेश में होगा आंदोलन
  • हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से हस्तक्षेप करने की मांग
  • कार्रवाई नहीं हुई तो सभी जिलों में होगा आंदोलन

चंडीगढ़: हरियाणा के यमुनानगर जिले में कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा क्षत्रिय समाज के राजा मिहिर भोज का नाम बदले जाने के विरोध में क्षत्रिय समाज के लोगों के विरोध जताया है।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहिंदर सिंह तंवर और राष्ट्रीय कार्यकारी युवा अध्यक्ष शांतनु सिंह चौहान ने मंगलवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि राजा मिहिर भोज के नाम को बदलने के कोशिश और उनके नाम के आगे गुर्जर लिखना, न सिर्फ राजपूतों के इतिहास के साथ छेड़छाड है, बल्कि कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा शांति भंग करने की शरारत है। इसके बावजूद सरकार मूकदर्शक बनी हुई है।

शांतनु चौहन कहा कि कुछ असामाजिक तत्व समाज में अशांति फैलाने का पुरज़ोर प्रयास कर रहे हैं। पूर्वजों व राजपूतों के गौरवशाली इतिहास को तोड़ा-मरोड़ा जाना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सभी समाजों को एक दूसरे के इतिहास का आदर करना चाहिए।

शांतनु सिंह चौहन ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए कहा कि राजा मिहिर भोज के नाम के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

हरियाणा सरकार ने यदि कार्रवाई नहीं की तो भारतीय राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा की युवा इकाई प्रदेश के सभी जिलों तथा विधानसभा क्षेत्रों में आंदोलन करेगी। इस अवसर पर परीक्षित राणा को चंडीगढ़ युवा क्षत्रिय महासभा का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

About Author

Team TH