देश

किसका हो रहा है रेडिकलाईज़ेशन और किसका बैठाया जा रहा है डर

किसका हो रहा है रेडिकलाईज़ेशन और किसका बैठाया जा रहा है डर

आजकल मीडिया में अंग्रेजी के शब्द Radicalization की बड़ी चर्चा है। संघी प्रोपेगंडा के मुताबिक मदरसा एजुकेशन से मुस्लिम नौजवानों का radicalization हो रहा है। उनमें कट्टरपंथ जनम ले रहा है और वे आतंकी संगठनों की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। राजस्थान में एक भाजपा विधायक ने बयान दे दिया की मदरसे आतंकवाद की तालीम दे रहे हैं बस फिर क्या था महारानी ने हुक्मनामा जारी कर दिया की प्रदेश के सभी मदरसों के बाहर पुलिस की तैनाती होगी और पुलिस बिगैर किसी वारंट के मदरसों की छानबीन करेगी और छात्रों से ले कर प्रबंधन और मौलवियों की जाँच करेगी और देखेगी की वहां क्या पढ़ाया जा रहा है। संघ परिवार के नेता पहले भी आरोप लगाते रहें हैं कि कुरान आतंकवाद की शिक्षा देती है। और जिहाद को बढ़ावा देती है। हालांकि ज़्यादातर मामलो में आतंकवाद के नाम पर गैर मदरसा एडुकेटेड लड़को को पकड़ा गया है उन्हें प्रताड़ित किया गया है , फ़र्ज़ी आरोप लगाए गए हैं और फेक एविडेंस कोर्ट में पेश किये गए, जो साबित ना होने पर 10 से 12 साल बाद 90 प्रतिशत आरोपी बा इज़्ज़त रिहा कर दिए गए हैं। भले ही उनकी ज़िन्दगी के बेहतरीन लम्हे और कैरियर तबाह हो गए हो और उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गयी हो। जबकि देखा ये जा रहा है कि ,जो राष्ट्रवादी बताये जा रहे हैं वे देश का तालिबानीकरण कर रहे हैं और भारत में सीरिया और इराक जैसे हालात बना देना चाहते हैं। मुस्लमान तो बदनाम किये जा रहे हैं और उनके खिलाफ कट्टरपंथ और आतंकी होने का प्रोपेगंडा किया जा रहा है जबकी भगवावादी संगठन V.H.P और बजरंगदल से जुड़े गोरक्षक  गोआतंक फैलाने में लगे हुए हैं और पशु व्यापारियों की पिटाई कर रहे हैं और हत्या कर रहे हैं। पुलिस की मौजूदगी में भी उनके हौसले बढे हुए हैं और पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है। पहले झारखण्ड में पशु व्यपारियों को पेड़ पर लटकाया। दादरी में अख़लाक़ की हत्त्या की ,हरियाणा के मेवात में बलात्कार और हत्त्या की उणा गुजरात में दलितों की पिटाई की और अब राजस्थान में जयपुर से नूह हरियाणा जा रहे पशु व्यपारियों या किसानों की गाय के नाम पर सारे बाजार हाईवे पर ट्रक से खींच कर पिटाई की गयी और एक 53 वर्षीय किसान की जान ले ली। तो हम ये जानना चाहते हैं कि आखिरकार redicalisation हो किसका रहा है और कौन आतंकवाद और उग्रवाद के रास्ते पर जा रहा है, कौन देश में अफगानिस्तान और पाकिस्तान जैसी अराजकता फैलाना चाहता है? बद अच्छा बदनाम बुरा।

Avatar
About Author

Azhar Shameem

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *