दक्षिण भारत में  तूफान ‘ओखी’ की वजह से जानमाल का भारी नुकसान हुआ है. इस तूफान ने तमिलनाडु, केरल और लक्ष्यदीप के कई हिस्सों को प्रभावित किया है.
तमिलनाडु और केरल में चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ से निपटने के लिए पूरी तैयारियां की जा रही हैं. कोच्चि के तट पर नेवी के 5 जहाज तैनात किए गए हैं. लक्षद्वीप में 2 जहाज तैयार रखे गए हैं. पानी के जहाजों के अलावा P8I एयरक्राफ्ट, नेवी और कोस्ट गार्ड के विमान राहत और बचाव में जुटे हैं. साथ ही हेलिकॉप्टर को भी इस काम के लिए तैयार रखा गया है.


बोइंग पी 8आई विमान आईएनएस ने करीब 7 लोगों को बचाया था। नेवी ने कहा है कि खोज के लिए जल्द ही नौसेना सागर हेलीकॉप्टर लॉन्च किया जा रहा है।.गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एनडीआरएफ के डीजी से बात कर ओखी तूफान के बारे में जानकारी ली. प्रभावित इलाकों में पहले से ही एनडीआरएफ की टीम रवाना हो चुकी है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के पक्ष से गंभीर चूक कर रहे हैं, हैदराबाद की तरफ से कोई टाइम पर कोई अलर्ट जारी नहीं किया गया.
https://twitter.com/ANI/status/936466805060595712

स्कूलों में छुट्टी

तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी जिलों भारी बारिश के कारण आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. तूफान के कारण स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है. भारी बारिश के चलते चेन्नई, मदुरई, कन्याकुमारी व अन्य क्षेत्रों में स्कूलों को बंद कर दिया गया है.

तूफान की कुछ तस्वीरें (साभार-ANI)

  1. त्रिवेंद्रम में नौसेना और तटीय गार्डों द्वारा बचाए गए,वहां भारी बारिश के कारण 59 लोग फंसे हुए हैं


 

  1. तमिलनाडु क्षेत्र में भारी बारिश के बाद तूतीकोरिन में स्थायी रूप से केले के फसलों को क्षतिग्रस्त किया गया.                       
About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *