December 4, 2021
बिहार

मधुबनी में फ़र्ज़ी नर्सिंग होम का खुलासा करने वाले पत्रकार अविनाश की हत्या..

मधुबनी में फ़र्ज़ी नर्सिंग होम का खुलासा करने वाले पत्रकार अविनाश की हत्या..

बिहार (bihar) के मधुबनी (madhubani) में शुक्रवार (12 November) को एक लाश मिली। लाश अधजली थी और बेनीपट्टी बाजार में एक पेड़ के नीचे बोरे में बंधी पड़ी थी। मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के मुताबिक ये लाश पत्रकार अविनाश झा (journalist avinash jha) की है जो बिहार के मधुबनी में लगातार फर्जी नर्सिंग होम (. ) का पर्दा फाश कर रहे थे। परिवार का कहना है कि अविनाश ने मधुबनी में फर्जी नर्सिंग होम और प्राइवेट हॉस्पिटल्स ( private hospitals) के खिलाफ अभियान छेड़ा हुआ था, उन्होंने ही अविनाश की हत्या की है।

परिवार ने कहा, अविनाश की हत्या हुई है ?

मीडिया को अविनाश के भाई त्रिलोकनाथ झा ने बताया था कि अविनाश 9 नवम्बर से लापता था। परिवार ने थाने में मिसिंग रिपोर्ट दर्ज कराई थी लेकिन 12 तारिक को बेनीपट्टी बाजार इलाके में एक पेड़ के नीचे अविनाश की अधजली लाश मिली। लाश बोर में बंद थी। अविनाश के भाई ने बताया की, अविनाश पत्रकारिता कर रहे थे और RTI के माध्यम से मधुबनी में बने फर्जी नर्सिंग होम और हॉस्पिटल्स की सच्चाई उजागर कर रहे थे।

इसके कारण ही कई नर्सिंग होम बन्द हो गए, कुछ पर जुर्माना लगा तो कुछ भाग खड़े हुए। भाई त्रिलोकनाथ का कहना है कि सभी फर्जी नर्सिंग होम वालो ने षडयंत्र रचा है और उनके भाई अविनाश की हत्या की है।

पोस्टर और बेनर के साथ लोगो ने मार्च निकाला :

इस बीच 14 नवम्बर को मधुबनी में बेनीपट्टी बाजार की सड़को पर जाम लग गया। ये जाम उन लोगो का था जो अविनाश की हत्या के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। लोगो के हाथों में पोस्टर और बड़े बड़े बेनर थे, जिन पर लिखा था “लड़ूंगा तब तक जान है जब तक” , लोगो ने अविनाश को जस्टिस दिलाने के लिए न केवल रोड पर मार्च निकाला बल्कि आरोपियों को फांसी देने की मांग भी की। इसके साथ अविनाश के परिवार ने प्रदेश के एसपी से सात मांगे की है, जो आगे जिलाधिकारी के पास कार्यवाही के लिए जानी हैं।

ये मांगे हैं :
अविनाश की हत्या की उच्चस्तरीय जांच हो और स्पीडी ट्रायल के ज़रिए दोषियों को कड़ी सज़ा दी जाए।

– अविनाश के परिजनों को 1 करोड़ का मुआवजा दिया जाना चाहिए, और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले।

– मधुबनी के आरक्षी अध्यक्ष के गलत बयान पर सार्वजनिक माफीनामा हो।

– बेनीपट्टी में स्थित थाने के पास जो हनुमान मंदिर है उसके बगल में अविनाश की प्रतिमा लगाई जाए।

– पत्रकार के साथ साथ आम जनता की सुरक्षा की गारंटी।

– 72 घंटे में मांगो पर कार्यवाही ।

पुलिस ने कहा प्रेम प्रसंग का मामला है :

मीडिया से बातचीत में एसपी सत्यप्रकाश न कहा, पांच लोगो की गिरफ्तारी की जा चुकी है और उनसे पूछताछ भी की जा रही है। हालांकि, अभी तब घटना क्यों हुई इसका पता नहीं चला है। पता चलने पर बता दिया जाएगा, अभी कुछ भी कहना सम्भव नहीं गई। एसपी ने कहा कि कुछ जगह प्रेम प्रसंग होने की बात कही जा रही है लेकिन जांच होने तक किसी भी निर्णय तक पहुंच मुशिकल है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के बाद स्पीडी ट्रायल की मांग की जाएगी ताकि जल्द से जल्द सुनवाई हो सके। इस बीच नर्सिंग ह्यम और हॉस्पिटल पर भी कार्यवाही की जाएगी।

मीडिया से बातचीत करते हुए मधुबनी के एसपी सत्यप्रकाश (तस्वीर : दी लल्लनटॉप)

हालांकि, दूसरी और परिवार वालो का कहना है कि अविनाश की शादी पहले से तय हो चुकी थी। फ़र्ज़ी नर्सिंग होम वालो ने पैसे दिए हैं, जिससे प्रेम प्रसंग का मामला बताकर इसे दबाया जा सके। नर्सिंग होम संचालको ने अविनाश को ज़िंदा जलाया है।

About Author

Sushma Tomar