अर्थव्यवस्था

जन धन खाताधारकों में यूं टूट रहा है बैंकों का कहर

जन धन खाताधारकों में यूं टूट रहा है बैंकों का कहर

केंद्र सरकार द्वारा जोर शोर से  शुरू किए गए जनधन खातों पर बैंक अब मनमाने तरीके अपनाने लगे हैं. कई प्रमुख बैंकों ने अपने यहां खोले गए खातों को रेग्यूलर सेविंग अकाउंट तब्दील करना शुरू कर दिया है.
जनधन खाते में प्रति महीने बस चार मुफ्त ट्रांजेक्शन की सुविधा मिल रही है. चूंकि इन चार लेनदेन का कोई शुल्क नहीं लगता है, इसलिए चार के बाद कई खाते फ्रीज हो रहे हैं.
एचडीएफसी और सिटी जैसे बैंक तो चार मुफ्त लेनदेन के बाद जनधन खाते को सामान्य खाते में बदल रहे हैं. सामान्य खाते का अर्थ है अगर न्यूनतम राशि खाते में न रखी गई तो कस्टमर को इसका हर्जाना भरना पड़ेगा. यह जानकारी आईआईटी मुंबई की एक रिपोर्ट में सामने आई है
टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और एक्सिस बैंक महीने में चार मुफ्त ट्रांजेक्शन के बाद बचत खाता अकाउंट फ्रीज कर रहे हैं.
एचडीएफसी और सिटी बैंक का कहना है कि चार मुफ्त ट्रांजेक्शन के बाद बेसिक अकाउंट को रेगुलर अकाउंट में बदलेंगे. आईसीआईसीआई बैंक ने शुरू में चार के बाद पांचवे ट्रांजेक्शन का शुल्क वसूलना शुरू कर दिया था लेकिन बाद में शुल्क लौटा दिया. चार के बाद उसका ट्रांजेक्शन अभी मुफ्त है.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *