कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डी. के. शिवकुमार ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. शिवकुमार ने रविवार को बेंगलुरू में मीडिया को बताया, “हमारे तीन विधायक मुंबई में हैं. हम (कांग्रेस) बीजेपी द्वारा की जा रही खरीद फरोख्त के प्रयास से अवगत हैं. हमारे विधायकों ने भी स्वीकार किया है कि बीजेपी द्वारा उनसे लगातार संपर्क किया जा रहा है.”
उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा – “बीजेपी विधायकों को खरीदकर जनता दल सेक्युलर (जद-एस) व कांग्रेस की गठबंधन सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है.” ये अलग बात है कि शिवकुमार ने उन विधायकों का नाम नहीं लिया, जिनसे बीजेपी ने संपर्क किया है. वहीं, नई दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए बीजेपी की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष बी.एस. येदियुरप्पा ने विधायकों की खरीद-फरोख्त के कांग्रेस के आरोपों को बेतुका करार दिया है.
कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बी.एस. येदियुरप्पा ने नई दिल्ली में संवाददाताओं को बताया, कि “खरीद-फरोख्त के ये आरोप केवल अफवाह हैं और इनमें कोई सच्चाई नहीं है. ” दक्षिणी राज्य के बीजेपी सांसद और विधायक अप्रैल-मई में आगामी लोकसभा चुनाव से पहले अपने नेतृत्व से मिलने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में हैं.
ज्ञात होकि राज्य में किसी भी दल के पास पूर्ण बहुमत नहीं है. 225 सदस्यीय विधानसभा में अध्यक्ष सहित कांग्रेस के 80 विधायक हैं जबकि 37 विधायक जद-एस के हैं. विधानसभा में बीजेपी के 104 विधायक हैं. वहीं कर्नाटक विधानसभा में बहुमत के लिए 113 विधायकों का समर्थन होना जरूरी है.

दो निर्दलीय विधायकों ने छोड़ा कांग्रेस व जेडीएस सरकार का साथ

कर्नाटक के दो निर्दलीय विधायकों ने मंगलवार को अचानक जेडीएस-कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस लेने का ऐलान कर दिया. निर्दलीय विधायक एच नागेश और आर शंकर ने सरकार से नाराजगी का इजहार करते हुए समर्थन वापसी की घोषणा की है. सरकार से समर्थन वापस लेने वाले निर्दलीय विधायक आर शंकर ने कहा कि आज मकर संक्रांति है और इस मौके पर हम सरकार में बदलाव चाहते हैं. राज्य में प्रभावी सरकार होनी चाहिए लिहाजा मैं आज ही कर्नाटक सरकार से अपना समर्थन वापस लेता हूं.


मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने 2 निर्दलीय विधायकों के द्वारा सरकार से अपना समर्थन वापस लेने पर कहा – कि अगर 2 विधायक समर्थन वापस ले भी लिया तो संख्या क्या है? मैं पूरी तरह से निश्चिंत हूं, मीडिया में पिछले हफ्ते से जो चल रहा है उसे एंजॉय कर रहा हूं. जबकि राज्य में राजनीतिक हालातों पर कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा कि हम कहते रहे हैं कि बीजेपी हमारे विधायकों को पैसे और शक्ति के माध्यम से लुभा रही है, लेकिन सरकार को अस्थिर करने का उनका प्रयास विफल होगा। हमारी सरकार स्थिर है.

About Author

Team TH