October 20, 2021

अभिनेता सोनू सूद ने आयकर विभाग के छापे पर न्यूज़ चैनल NDTV से एक साक्षात्कार में खुल कर बात की। अभिनेता ने साक्षात्कार में दौरन आयकर अधिकारियों को आवयश्क जानकारी देने की बात कही। साथ ही उन्होंने उन सभी सवालों के जवाब देने की बात कही, जो जांच से जुड़े हुए थे।

गौरतलब है कि बीते दिनों अभिनेता सोनू सूद, कर चोरी और अवैध धन के लिए आयकर विभाग के जांच के दायरे में आए थे। जिसके बाद आईटी विभाग ने उनके मुंबई स्थित घर और कार्यालय पर छापे मारे थे।

दान के एक एक पैसे का हिसाब हो- सोनू सूद

उन्होंने न्यूज चैनल से कहा, ‘ आईटी विभाग ने जो भी दस्तावेज और ब्योरा मांगा, हमने दिया। उन्होंने जो भी सवाल पूछे, मैंने उसका जवाब दिया। मैंने अपना काम किया, उन्होंने अपना किया। उनके हर एक सवाल का जवाब हमने दस्तावेजों के साथ दिया। यही मेरा कर्तव्य भी है। हम अभी भी दस्तावेज उपलब्ध करा रहे हैं…यह एक प्रक्रिया का हिस्सा है। जिसे हम पूरा करेंगे” उन्होंने आगे कहा, “मैं यह सुनिश्चित करता हूं कि इस संसार में जिसने भी दान दिया है उसके एक-एक पैसे का हिसाब हो।”

“मैने किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया”

जब उनसे पूछा गया कि आईटी विभाग ने उन पर कानून का उल्लंघन करने के आरोप लगाए थे तो उन्होंने कहा, “बिल्कुल नहीं, मैनें किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। “जब उनसे 20 करोड़ रुपये की कर चोरी के आरोप के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा-1.9 करोड़ रुपये का दान प्राप्त हुआ और इसका राहत कार्य के लिए इस्तेमाल भी किया जा रहा है।

20 करोड़ की कर चोरी के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा-” यह हैरान करने वाली बात है। हमने जो कुछ भी एकत्र किया वो केवल नागरिकों द्वारा किया गया दान नहीं है। इसका एक हिस्सा ब्रांड एंबेसडर से मिलने वाला मेरा पारिश्रमिक भी है। मैं उनसे चैरिटी में दान करने के लिए कहता हूं ताकि इससे कीमती जीवन को बचाया जा सके।

दान के एक एक पैसे का उचित उपयोग हो:

COVID-19 महामारी में मदद मांगने वाले विभिन्न प्लेटफार्मों पर प्राप्त संदेशों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, “मेरे पास 54,000 ऐसे मेल हैं जो अभी तक पढ़े भी नहीं गए हैं, वहीं व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर पर हजारों संदेश हैं। मुझे मालूम है कि 18 करोड़ खत्म करने में 18 घंटे भी नहीं लगेंगे। लेकिन मुझे यह सुनिश्चित करना होगा कि एक वास्तविक और जरूरतमंद व्यक्ति के लिए एक-एक पैसा उचित तरीके से उपयोग किया जाए। ”

उन्होंने यह भी कहा कि एक भी पैसा उनके खाते में नहीं गया, बल्कि सीधे उन लोगों में चला गया जिन्हें इसकी जरूरत थी। उनसे, अवैध पैमाने पर विदेशी धन प्राप्त करने के बारे में सवाल किया गया था, जिस पर उन्होंने जवाब दिया, “मेरे खाते में एक भी डॉलर नहीं आ सकता है।”

“हमनें रुकना नहीं सीखा, यह तो बस शुरुआत है”

जब उनके द्वारा किए गए लेन-देन के विवरण की बात आई, तो उन्होंने बताया कि कर अधिकारी भी उनसे सहमत थे कि उन्होंने “अच्छा काम” किया है, उन्होंने कहा, “मैंने उनसे पूछा – क्या आपने कभी इस तरह के दस्तावेज, विवरण, और कागजी कार्रवाई देखी है ? तो आयकर विभाग वालो ने कहा- नहीं। वे भी जो कुछ देख रहे थे उससे खुश थे।

उन्होंने (IT department) कहा कि यह उनके लिए चार दिन की सबसे आसान छापेमारी थी। अपने दान के काम को जारी रखेंगे का आश्वाशन देते हुए उन्होंने कहा, “मैंने रुकना नहीं सीखा। यह तो बस शुरुआत है।” बता दें कि कोरोना महामारी के दौरान अभिनेता सोनू सूद ने जरूरत पड़ने पर सहायता प्रदान करके कई लोगों को उनके आवागमन, शिक्षा, चिकित्सा और बहुत से कामों में मदद की थी।

किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं कर रहा हूँ”

जब कुछ राजनीतिक दलों ने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) के साथ उनके सहयोग के कारण छापे मारे गए, तो उन्होंने जवाब दिया, “मैं आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं कर रहा हूं। आप मुझे कर्नाटक, गुजरात या राजस्थान किसी भी राज्य में बुला लो, मैं जादू की तरह तुरंत जाऊंगा। क्योंकि मैंने सभी राज्यों में काम किया है। वो राज्य भाजपा शासित भी थे और कांग्रेस शासित भी।”

अभिनेता सोनू सूद ने राज्यसभा सदस्य बनने के प्रस्तावों को ठुकराने की बात कही, क्योंकि उन्हें लगता कि वह इसके लिए तैयार नहीं हैं। उन्होंने आगे कहा कि “मैंने दो अलग-अलग दलों से राज्यसभा सीटों के प्रस्तावों को अस्वीकार कर चुका हूं। मैं मानसिक रूप से तैयार नहीं हूं। मैं इस समय अपनी जगह पर खुश हूं। उन्होंने कहा कि मैं जब भी तैयार हो जाऊंगा तो टॉप पर खड़े होकर चिल्लाऊंगा की मैं तैयार हूं।

About Author

Sushma Tomar