गुजरात के युवा नेता हार्दिक पटेल ने कहा है कि अहमदाबाद, सूरत और राजकोट में जिन भी सीटों पर जीत का अंतर कम रहा है, वहाँ ईवीएम को लेकर संदेह है.

 
हार्दिक पटेल पाटीदारों को आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं और उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को अपना समर्थन दिया था.
हार्दिक पटेल ने कहा कि आप मुझसे पूछें कि जिन पाटीदार इलाक़ों में आपकी रैलियों में इतनी भीड़ जुटी थी, वहां आपका जादू नहीं चला? मैं कहूँगा कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ कर भाजपा जीती है.
हार्दिक ने एक ट्वीट किया और कहा कि – मैं बीजेपी को उसकी जीत के लिए अभिनंदन नहीं दूंगा क्योंकि ये जीत बेईमानी से हुई हैं। गुजरात की जनता जागृत हुवी हैं लेकिन और जागृत होना ज़रूरी हैं।EVM के साथ छेड़छाड़ हुवी है यह हक़ीक़त हैं।


मिडिया से  बातचीत में हार्दिक ने कहा कि, भाजपा को किसी चाणक्य ने नहीं जिताया, ईवीएम और पैसे के बल पर भाजपा जीती है.
उन्होंने कहा कि, अहमदाबाद, सूरत और राजकोट की जिन 12 से 15 सीटों पर हार-जीत का अंतर 200, 400, 800 वोटों का रहा है, वहाँ ईवीएम टैंपरिंग का बड़ा मुद्दा है. मैंने खुद देखा कि जिस भी ईवीएम में रीकाउंटिंग हुई है, वहाँ बदलाव हुआ है. ये बातें ईवीएम को लेकर सोचने पर मजबूर करती हैं.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *