हिमाचल में विधायक और महिला कॉस्टेबल के बिच थप्पड़कांड रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है. और कांग्रेस विधायक आशा कुमारी और महिला कॉस्टेबल के थप्पड़कांड मामले ने अब तूल पकड़ लिया है. कल राहुल गाँधी के कहने पर विधायक के माफी मांगने के बाद भी मामला शांत नहीं हुआ है. अब इस मामले की जांच प्रशासनिक रैंक के अधिकारी की अध्यक्षता में होगी. इस मामले में इन दोनों से पूछताछ की जायेगी.

ये था पूरा मामला

  • हिमाचल विधानसभा चुनावों  में कांग्रेस की करारी हार की समीक्षा को लेकर शुक्रवार को राहुल गांधी शिमला के राजीव भवन में कांग्रेस के नेताओं और उम्मीदवारों से बैठक कर रहे थे.
  • इस दौरान 3 से 4 कांग्रेसी विधायक देरी से पहुंचे. इनमें आशा कुमारी भी थी. क्योंकि राहुल गांधी दफ्तर के अंदर आ चुके थे, इसलिए गेट पर पुलिस गेटपास चेक करने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दे रही थी.
  • पंजाब कांग्रेस प्रभारी और डलहोजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने जल्दी अंदर जाने की कोशिश की तो वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मी से उनका टकराव हो गया. आशा कुमारी ने महिला कांस्टेबल को थप्पड़ मार दिया.
  • पलटवार करते हुए लेडी कांस्टेबल ने भी आशा कुमारी को थप्पड़ रसीद दिया. घटना के बाद पुलिसकर्मियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की.
  • महिला पुलिसकर्मी को भी मौके से अंडरग्राउंड कर दिया. महिला कांस्टेबल शिमला के रोहड़ु की रहने वाली हैं और राहुड़ु से स्पेशल ड्यूटी पर आई हैं.
About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *