चे ग्वेरा जिसके चाहने वाले भारत में भी कम नहीं हैं

चे ग्वेरा जिसके चाहने वाले भारत में भी कम नहीं हैं

14 जून 1928 को लैटिन अमेरिका में पैदा होने वाले चे ग्वेरा के चाहने वाले आज भी भारत में मौजूद हैं। चे ग्वेरा का जन्म अर्जेंटीना के एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। चे ग्वेरा कुछ लोगों के लिए महान क्रांतिकारी और कुछ लोगों के लिए बस एक हत्यारा। चे ग्वेरा पर कई बार ये […]

Read More
 सुशांत की मौत के एक साल, मीडिया ट्रायल ने स्थापित किये नए रिकॉर्ड

सुशांत की मौत के एक साल, मीडिया ट्रायल ने स्थापित किये नए रिकॉर्ड

सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajpoot) की मौत को पूरा एक साल हो चुका है। बीते साल 14 जून को बॉलीवुड के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का शव उनके घर में मिली थी। दरअसल, सुशांत की लाश उनके फ्लैट में पंखे से लटकी हुई मिली थी। जिसके बाद यह दावा किया जा रहा था […]

Read More
 कोर्ट का एक फ़ैसला और चली गई थी इंदिरा की संसद सदस्यता

कोर्ट का एक फ़ैसला और चली गई थी इंदिरा की संसद सदस्यता

भारत की पहली और अभी तक इकलौती महिला प्रधानमंत्री के तौर पर इंदिरा गांधी काफी लोकप्रिय थीं। लोग इंदिरा गांधी को इस कदर चाहते थे कि उनकी कही एक एक बात लोगों के लिए पत्थर की लकीर हो जाती थी। “गरीबी हटाओ” के नारे को इंदिरा ने असल मायनों में काफी हद तक सार्थक किया। […]

Read More
 खूबसूरती के उद्योग में झुलस रहें हैं हजारों बच्चे

खूबसूरती के उद्योग में झुलस रहें हैं हजारों बच्चे

आज अंतरराष्ट्रीय बाल मजदूरी निषेध दिवस की शुरआत करीब दो दशक पहले 2002 में हुई थी। इसकी शुरुआत दुनिया में बाल मजदूरी को रोकने के लिए हुई थी। लेकिन भारत में बाल मजदूरी के मामले आज भी कम नहीं हैं। कहा जाता है कि गरीबी और बाल मजदूरी समांतर चलती हैं। मतलब गरीबी के कारण […]

Read More
 ये थी पंडित नेहरू की आखिरी इच्छा

ये थी पंडित नेहरू की आखिरी इच्छा

आज भारत में हर खराब स्तिथि के लिए सिर्फ नेहरू को जिम्मेदार माना जाता है। पर आज जिस आधुनिक भारत में हम जी रहे हैं, उसके लिए हमे देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का शुक्रगुजार होना चाहिए। जवाहर लाल नेहरू को आधुनिक भारत का जनक कहा जाता है। भारत जिस समय आजाद हुआ […]

Read More
 जब लिट्टे प्रमुख प्रभाकरण को राजीव ने दिया था बुलेट प्रूफ जैकेट

जब लिट्टे प्रमुख प्रभाकरण को राजीव ने दिया था बुलेट प्रूफ जैकेट

हाल ही में मनोज बाजपेयी की “द फैमिली मैन-2” (The Family Man 2) को काफी पसंद किया जा रहा है। इस सीजन की पूरी कहानी श्रीलंका के अलगाववादी संगठन और उसके प्रमुख लीडर भासकरण पर आधारित है। यह बात भी हर कोई जानता है कि भासकरण का किरदार लिब्रेशन टाईगर ऑफ तमिल ईलम (Liberation Tigers […]

Read More
 भाजपा का अगला प्रधानमंत्री उम्मीदवार कौन: योगी बनाम मोदी

भाजपा का अगला प्रधानमंत्री उम्मीदवार कौन: योगी बनाम मोदी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कौन नहीं जानता, राजनीति में चर्चित रहने वाले नेताओं में से एक बड़ा नाम है योगी आदित्य नाथ, यूपी के मुख्यमंत्री आज अपने आप में एक ब्रैंड हैं, देश के दक्षिण पंथी और हिंदुत्ववादी सोच वाले युवाओं के आदर्श बनकर उभरने वाले योगी आदित्यनाथ का जीवन विवाद से […]

Read More
 नूतन ने पति के कहने पर संजीव कुमार को जड़ दिया था थप्पड़, मां से भी रिश्ते नहीं थे अच्छे

नूतन ने पति के कहने पर संजीव कुमार को जड़ दिया था थप्पड़, मां से भी रिश्ते नहीं थे अच्छे

ब्लैक एंड व्हाइट से चाइल्ड एक्टर के तौर पर अपने कैरियर की शुरुआत करने वाली नूतन ने करीब 4 दशकों तक अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया। नूतन ने ब्लैक एंड वाइट और कलर फिल्में मिला कर कुल 70 फिल्मों में अभिनय किया और लोगों के दिलों पर 40 साल राज किया। लेकिन उनकी निजी जिंदगी […]

Read More
 3 जून को गांधीजी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का किया था आवाह्न

3 जून को गांधीजी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का किया था आवाह्न

भारत में हिंदी भाषा का एक लंबा इतिहास रहा है l हिंदी भाषा को समृद्ध और व्यापक बनाने में कई साहित्यकारों व राजनेताओं ने भरपूर प्रयास किए हैं। जिनमें महात्मा गांधी कान नाम सबसे ऊपर आता है। गांधी जी हिंदी भाषा को राजनैतिक तरीके से देश के कोने-कोने में पहुंचाया। हिन्दी भाषा के विकास और […]

Read More
 क्या थी माउंटबेटन की 3 जून योजना, जिसकी टीस आज भी देश झेल रहा है

क्या थी माउंटबेटन की 3 जून योजना, जिसकी टीस आज भी देश झेल रहा है

3 जून भारत के लिए एक ऐसी तारीख है जिसका दर्द भारत अभी तक झेल रहा है। आज ही के दिन औपनिवेशिक भारत के आखिरी वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने विभाजन की योजना घोषणा की थी। इसी आधार पर पाकिस्तान के अस्तित्व पर मुहर लगा दी गई थी। लिहाजा इस योजना को “माउंटबेटन योजना” या “3 […]

Read More