हमारा लोकतांत्रिकरण कब होगा ?

हमारा लोकतांत्रिकरण कब होगा ?

विभिन्न राजनीतिक दलों में कार्यरत कार्यकर्ताओं को बहुजन दलों से जुड़े कार्यकर्ता बहुत ही हेय दृष्टि से देखते है. उनके प्रति भयानक हिकारत का भाव दिखलाई पड़ता है,ये लोग अपने ही समुदाय में उपेक्षित और अत्यधिक गरियाये हुये नजर आते है. इनके लिए विशेषणात्मक सम्बोधन भी सुनाई पड़ते है,ये विशेषण लिखे और बोले भी जाते […]

Read More
 "दलित" शब्द के पीछे क्यों पड़े है कट्टरपंथी समूह ?

"दलित" शब्द के पीछे क्यों पड़े है कट्टरपंथी समूह ?

दलित शब्द दलन से अभिप्रेत है , जिनका दलन हुआ ,शोषण हुआ ,वो दलित के रूप में जाने पहचाने गये। दलित शब्द दुधारी तलवार है ,यह अछूत समुदायों को साथ लाने वाला एकता वाचक अल्फ़ाज़ है, इससे जाति की घेराबंदी कमजोर होती है और शोषितों की जमात निर्मित होती है, जो कतिपय तत्वों को पसंद […]

Read More
 लव जिहाद या भगवा जिहाद ?

लव जिहाद या भगवा जिहाद ?

राजस्थान के राजसमन्द में प्रवासी बंगाली मजदूर इफराजुल की एक दलित शम्भू लाल रेगर उर्फ शम्भू भवानी द्वारा की गई निर्मम हत्या की घटना से मैं व्यक्तिगत रूप से बहुत दुःख महसूस कर रहा हूँ ,कोई भी इंसान कैसे इस बेरहमी से किसी निर्दोष ,निहत्थे इंसान का कत्ल कर सकता है ,यह अत्यंत क्षुब्ध करने […]

Read More