वाशिंगटन पोस्ट की खबर के अनुसार नीदरलैंड के धुर इस्लाम विरोधी गीर्ट विल्डर्स ने विश्व व्यापी प्रचंड विरोध के चलते 10 नवम्बर को आयोजित होने वाले पैगम्बर मोहम्मद रसूलल्लाह ﷺ का कार्टून कांटेस्ट रद्द कर दिया है. अपने लिखित बयान में उसने कहा है कि “इस्लामी हिंसा के पीड़ितों के जोखिम से बचने के लिए, मैंने फैसला किया है कि कार्टून प्रतियोगिता आगे बढ़ने न दें, मैं दूसरों को मुसीबत में नहीं डालना चाहता। ”

ज्ञातव्य है कि पाकिस्तान सहित भारत में भी इस इस्लाम विरोधी प्रतियोगिता का प्रचंड विरोध हुआ था, साथ ही विश्व के कई देशों में मुसलमान इस प्रतियोगिता के खिलाफ उठ खड़े हुए थे, और सोशल मीडिया पर #StopBlasphemousCartoonContest हैशटैग चलाकर प्रबल विरोध दर्ज किया था.

चौबीसों घंटे पुलिस की सुरक्षा में रहने वाले विवादस्पद गीर्ट विल्डर्स विश्व में इस्लाम विरोधी और उकसाने वाली इस तरह की प्रतियोगिताएं और आह्वान करने के लिए जाना जाते हैं, ये पहला मौक़ा नहीं है जब उसने इस तरह की हरकत की है, इससे पहले भी 2007 में वो क़ुरआने पाक पर रोक लगाने की अपनी मुहीम और 2008 में एक फिल्म फितना बनाकर और बिना अनुमति के रिलीज़ करने की हरकतों की वजह से अंतर्राष्ट्रीय विरोध झेल चुके हैं, इसके साथ ही जुलाई 2015 में वियना के भियोजन पक्ष के कार्यालय ने भी उस पर हेट क्राइम करने समुदायों में नफरत फ़ैलाने के लिए आपराधिक मामला चलाने की सिफारिश भी की थी.