January 23, 2022
राजनीति

क्या खाली कुर्सियों की वजह से पीएम मोदी की पंजाब रैली रद्द हुई ?

क्या खाली कुर्सियों की वजह से पीएम मोदी की पंजाब रैली रद्द हुई ?

बीते बुधवार पंजाब (punjab) के फ़िरोज़पुर (ferozpur) में PM modi की रैली रद्द होने और भटिंडा एयरपोर्ट पर अधिकारियों से PM का ये कहना की, “मुख्यमंत्री को धन्यवाद कहना कि एयरपोर्ट पर ज़िंदा लौट पाया” पर अब नेताओं की प्रतिक्रिया तेज़ हो गयी हैं। ट्विटर पर तो बवाल मचा हुआ है। BJP नेताओं का कहना है कि पंजाब में पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई है। प्रदर्शकारियों का काफ़िले के इतना करीब आ जाना साज़िशन हुआ है।

दूसरी ओर पंजाब के सीएम चरणजीत चन्नी (CM charan jeet channi) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा की, पहले पीएम हेलीकॉप्टर से आने वाले थे, कार से आना लास्ट मूमेंट पर डिसाइड किया गया। उन्होंने ये भी कहा कि फ़िरोज़पुर के जिस ग्राउंड में पीएम मोदी की जनसभा होनी थी वहां 7 हज़ार कुर्सियां लगवाई गयी थी लेकिन भीड़ 7 सौ लोगो की भी नहीं थी इसलिए रैली को रद्द कर दिया गया। कोंग्रेस नेता और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी की सुरक्षा पर बड़ी चूक होने पर कहा, ‘रैली में भीड़ नहीं आई तो सुरक्षा में चूक का बहाना बनाकर जनसभा को रद्द कर दिया गया।’

उन्होंने आगे कहा, भाजपा (BJP) और पीएम मोदी (prime minister modi) को आरोप- प्रत्यारोप की बजाय ‘किसान विरोधी रुख’ पर आत्ममंथन करना चाहिए। पीएम मोदी को अपने पद की गरिमा को धूमिल नहीं करना चाहिए। रणदीप सुरजेवाला ने ये भी कहा, की सड़क से जाने का फैसला उन्होंने ख़ुद लिया, ये उनके पहले से तय कार्यक्रम का हिस्सा नहीं था।

अब कुछ ट्वीट देखिए….

गृह मंत्री अमित शाह (amit shah), स्मृति ईरानी (smriti irani) समेत BJP के मुताबिक पंजाब में प्रदर्शनकारियों ने पीएम के काफिले को जिस तरह से रोका वो पीएम मोदी की सुरक्षा में भारी चूक थी। समाचार एजेंसी ANI ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह (gajendra singh shekhavat) शेखावत के बयान को ट्वीट करते हुए लिखा, ” पीएम मोदी की सुरक्षा में जिस तरह सेंध लगाई गई है, उन्हें 20 से 25 मिनट रास्ते में रुके रहना पड़ा ये पंजाब सरकार की विफलता है। पीएम मोदी किस मार्ग से जाएंगे ये जानकारी लीक की गई”


बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर ने ‘फ़िरोज़पुर में हुई घटना को पीएम मोदी की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ बताते हुए इसे पंजाब सरकार के लिए अफ़सोस जनक और शर्मनाक बताया। उनके मुताबिक पीएम मोदी के लिए कुछ लोगो में नफ़रत उन लोगो की कायरता की निशानी है’

Twitter



वहीं कुछ ट्वीट पीएम मोदी पर सीधे तौर पर हमलावर रहें…


डॉ ओम सुधा ने लिखा,

 

सुमित चौधरी नाम के एक यूज़र ने पीएम की सुरक्षा को गम्भीर मसला बताया। लिखा, की चुनाव से ज़रूरी पीएम मोदी की जान है, इसलिए सभी रैलियां कैंसिल कर देनी चाहिए। पीएम की जान से खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। वहीं अपने दूसरे ट्वीट में यूज़र ने लिखा, BJP चंद सीटों के लिए PM की जान को दांव पर लगा रही है।

Twitter


पप्पू यादव ने ट्वीट में लिखा, CM चन्नी की देन है कि पीएम वापस लौट आए, वरना जनता तो उन्हें चौक चौराहों पर खोज रही थी।

Twitter


पुनीत कुमार नाम के यूज़र ने CM चन्नी की बात को कोट कर लिखा, 7000 कुर्सियां लगी थी 700 लोग भी न पहुंचे, इसलिए रैली रद्द कर सी गयी।

 

Twitter


डॉ लक्ष्मण यादव ने लिखा, “पीएम थे इसलिए ज़िंदा लौट आए, वो साढ़े सात सौ किसान थे इसलिए नहीं लौटे। काश हर किसी की जान की कीमत एक जैसी होती”

Twitter



वैभव माहेश्वरी ने लिखा, जान का खतरा तो उन्हें एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने में भी है।

Twitter screenshot


राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने लालू यादव की एक वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा, ” अब ये बात किसी अहंकारी को कौन समझाए की “500 किसानों” की जान की कीमत “500 PM” के बराबर हैं।”

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर की जा रही है जिसमे एक बड़े भूखंड पर खाली कुर्सियां हैं। इसे PunJab के फ़िरोज़पुर की वो जगह बताया जा रहा है जहां PM Modi की जनसभा होनी थी। इससे पहले भी UP में PM Modi की रैली में पैसे देकर भीड़ इकट्ठा करने की बात सामने आई है।

About Author

Sushma Tomar