January 23, 2022
राजनीति

विरोध के बाद पंजाब के फ़िरोज़पुर से वापस लौटे पीएम मोदी

विरोध के बाद पंजाब के फ़िरोज़पुर से वापस लौटे पीएम मोदी

यूपी (UP) और उत्तराखंड (uttrakhand) के बाद अब पीएम मोदी (PM modi) की अगली चुनावी रैली पंजाब (punjab) के फ़िरोज़पुर में होनी थी। लेकिन रैली को अब रद्द कर दिया गया है। इसका कारण है किसानों द्वारा पीएम मोदी का पंजाब में कड़ा विरोध करना।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो और तस्वीरों में आम जनता मुर्दाबाद के नारे लगा रही है। वहीं किसान भी रोष में दिख रहे हैं। सड़को पर BJP के लगे होर्डिंग्स को तोड़ दिया गया है, रिक्शे पर लगे BJP के झंडे को उखाड़ फेंका गया है। वहीं गाड़ियों पर लगे बैनर को फाड़ दिया गया है।

पंजाब में पीएम मोदी का विरोध क्यों :

किसानों में किसान आंदोलन के दौरान उनके साथ हुए बर्ताव को लेकर खासा गुस्सा है। एक साल से ज़्यादा चले इस आंदोलन के दौरान किसान दिल्ली के बॉर्डर पर धूप, बारिश और कड़कड़ाती सर्दी में डटे रहे लेकिन कुछ किलोमीटर दूर पीएम मोदी ने उनकी सुध भी न ली। यहां तक BJP के मंत्रियों ने किसानों को खालिस्तानी, आतंकी तक कहकर सम्बोधित किया।

पंजाब के किसानों में गुस्सा इस बात को लेकर भी है कि पंजाब के किसानों ने इस आंदोलन को दिल्ली के बॉर्डर पर और पंजाब में दो मोर्चो पर लड़ा है। वहीं अब पंजाब में चुनाव है तो प्रधानमंत्री मोदी, प्रचारमंत्री बनकर पंजाब में आने के लिए तैयार हैं।

“धन्यवाद कहना, की मैं ज़िंदा लौट पाया” : पीएम मोदी :

इस बीच रैली रद्द होने और विरोध की तस्वीरें, वीडियो के साथ सोशल मीडिया पर गर्माने लगी। असम के सीएम हेमंत बिस्वा शर्मा की बयान को कोट करते हुए समाचार एजेंसी ANI ने ट्वीट में लिखा, ” शर्म की बात है कि पंजाब के कल्याण के लिए विकास योजनाओं को शुरू करने के रास्ते में प्रदर्शनकारियों ने पीएम मोदी के काफ़िले को रोक दिया। ये सुरक्षा में एक गंभीर चूक है और तथ्य ये हैं कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे को और भी बत्तर बना दिया।”

Image credit : google


दूसरी और ANI के ही ट्वीट के मुताबिक, रैली रद्द होने के बाद पीएम मोदी ने भटिंडा हवाई अड्डे पर वापस पहुंच कर अधिकारियों से कहा, ” अपने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देना की मैं भटिंडा हवाई अड्डे पर ज़िंदा लौट पाया।” इस बीच ट्विटर पर अन्य नेताओं ने भी प्रतिक्रिया दर्ज की।


#GoBackModi होने लगा ट्रेंड :

इस बीच सोशल मीडिया पर #GoBackModi बड़ी ही तेज़ी से ट्रेंड होने लगा। वहीं विपक्षी नेताओं ने भी पीएम मोदी की चुटकी लेने का मौका हाथ से जाने नहीं दिया। आम आदमी पार्टी (aam aadmi parti) के सांसद संजय सिंह (sanjay singh) ने ट्वीट कर तंज किया और लिखा, “की “सम्मान देने से मिलता है”, प्रधानमंत्री जी आप एक रैली के रद्द होने पर इतने गुस्से में हैं ज़रा उन 750 किसानों के परिवार के बारे में सोचिए, जो आपकी ज़िद की वजह से किसान आंदोलन में शहीद हो गए, आपने तो यहां तक कह दिया कि वो मेरे लिए थोड़े ही मरे हैं।”

Image : twitter



बता दें कि , मेघालय के राजपाल सत्यपाल मालिक ने हाल ही में मीडिया को बताया है कि जब वो पीएम मोदी से मिले और किसानों की बात की तो पीएम मोदी का जवाब उनके लिए चौकाने वाला था। उन्होंने कहा, की जब उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि इतने किसान, आंदोलन के दौरान मर गए तो पीएम मोदी ने कहा, ” मेरे लिए थोड़े ही मरे हैं”, उन्होंने ये भी बताया कि गृह मंत्री अमित शाह ने उनसे कहा, की पीएम का दिमाग कुछ लोगो ने घुमा रखा है।


मुर्दाबाद के नारों से हुआ पीएम मोदी का स्वागत :

पंजाब के फ़िरोज़पुर में मुर्दाबाद के नारों से पीएम मोदी का स्वगत हुआ। BJP के बैनर और होर्डिंग्स को उखाड़ फेंका गया और पीएम मोदी गुस्से में भटिंडा हवाई अड्डे वापस लौट गए। लेकिन इस चुनावी मौसम में ये पहली बार नहीं है। पीएम मोदी और उनकी पार्टी BJP, यूपी और उत्तराखंड में भी फ़जीहत झेल चुकी हैं।

नेशनल दस्तक के मुताबिक, यूपी में पीएम मोदी की रैलियों में खाली कुर्सी भरने के लिए पैसे देकर भीड़ इकट्ठा की गई। वहीं उत्तराखंड में BJP के नेता रैली से कुर्सियां खाली कर रवाना होते दिखे।

About Author

Sushma Tomar