महाराष्ट्र के पालघर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। सूरत जा रहे तीन लोगों को भीड़ ने पीट पीटकर मार डाला है । मरने वालों में दो साधू और एक उनका ड्राईवर है, तीनों ही एक अंतिम संस्कार में शामिल होने सूरत जा रहे थे। लिंचिंग की इस घटना के बाद भाजपा महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर हो गई है। वहीं घटना से संबंधित 101 आरोपियों को महाराष्ट्र पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

बताया जा रहा है, कि कुछ दिनों से पालघर क्षेत्र में साधू के भेष में लुटेरे घूमने की अफवाह जमकर चल रही थी, जिसके नतीजे में मुंबई से सूरत जा रहे इन लोगों को भीड़ ने अपना निशाना बना लिया है। पिछले कुछ सालों में मोब देश में मोब लिंचिंग की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है। पुणे के मोहसीं शेख, दादरी के अखलाक़ और अलवर के पहलू खान व झारखंड में तबरेज़ अंसारी ऐसे ही भीड़ के द्वारा मार दिए गए थे। देश में पूर्व में हुई मोब लिंचिंग की घटनाओं के आरोपियों पर सख्ती से कार्यवाही न होने का नतीजा है, कि महाराष्ट्र के पालघर में भीड़ ने एक बार फिर तीन लोगों की जान ले ली है।https://twitter.com/aartic02/status/1252092334205882368

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर आरोपियों की गिरफ़्तारी की दी जानकारी

इस घटना के सामने आने के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए 101 आरोपियों को गिरफ़्तार किया है, साथ ही घटना को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश करने वालों पर कार्यवाही के आदेश भी दिए गए हैं। देखें गृहमंत्री अनिल देशमुख ने क्या कहा –

मुंबईसे सूरत जाने वाले 3 लोगों की पालघर में हुई हत्या के बाद मेरे आदेश से इस हत्याकांड में शामिल १०१ लोगों को पुलिस हिरासत में लिया गया है। साथ ही उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दिए गए हैं। इस घटना को विवादास्पद बनाकर समाज में दरार बनाने वालों पर भी पुलिस नज़र रखेगी। हमला करनेवाले और जिनकी इस हमले में जान गई – दोनों अलग धर्मीय नहीं हैं। बेवजह समाज में/ समाज माध्यमों द्वारा धार्मिक विवाद निर्माण करनेवालों पर पुलिस और @MahaCyber1 को कठोर कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। #LawAndOrderAboveAll

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के कार्यालय ने भी ट्वीट करके 101 आरोपियों की गिरफ़्तारी की जानकारी दी है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा – पालघर की घटना में एक्शन ले लिया गया है। दो साधू और एक ड्राईवर की हत्या के आरोपी 101 लोगों को घटना के दिन ही गिरफ़्तार कर लिया गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, पालघर में जिस क्रूरता के साथ मॉब लिंचिंग हुई, वह मानवता को शर्मसार करने वाली है। मैं एक उच्च स्तरीय जांच की मांग करता हूं। जल्द से जल्द सख्त कार्रवाई की जाए।

About Author

Team TH