नागरिकता संशोधन विधेयक: हिंदी प्रदेश को कचरे के ढेर में बदला जा रहा है – रविश कुमार

नागरिकता संशोधन विधेयक: हिंदी प्रदेश को कचरे के ढेर में बदला जा रहा है – रविश कुमार

जिस तरह से धारा 370 की राजनीति कश्मीर के लिए कम हिन्दी प्रदेशों को भटकाने के लिए ज़्यादा थी उसी तरह से नागरिकता संशोधन बिल असम या पूर्वोत्तर के लिए कम हिन्दी प्रदेशों के लिए ज़्यादा है। इन्हीं प्रदेशों में एक धर्म विशेष को लेकर पूर्वाग्रह इतना मज़बूत है, कि उसे सुलगाए रखने के लिए […]

Read More
 मोदी सरकार के इस बिल से क्यों नाराज़ हैं पूर्वोत्तर राज्यों के नागरिक

मोदी सरकार के इस बिल से क्यों नाराज़ हैं पूर्वोत्तर राज्यों के नागरिक

26 जनवरी को जब दिल्ली सहित पूरे देश मे गणतंत्र दिवस 2019 मनाया जा रहा था तो इसी अवसर पर देश के सुदूर पूर्व में स्थित एक छोटे से राज्य मिजोरम में वहां के राज्यपाल के राजशेखरन मात्र 6 सशस्त्र कन्टिनजेन्ट की टुकड़ी की सलामी एक लगभग जनशून्य स्टेडियम में ले रहे थे। पूरे मिजोरम […]

Read More
 असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मेघालय में क्यों हो रहा है नागरिकता संशोधन बिल का विरोध?

असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मेघालय में क्यों हो रहा है नागरिकता संशोधन बिल का विरोध?

मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल को लोक सभा में पास करा लिया है। इसके प्रावधान के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में सताए गए वैसे हिन्दू, सिख, बौद्ध, पारसी और ईसाई को भारत में छह साल रहने के बाद नागरिकता दी जा सकती है जो 31 दिसंबर 2014 के पहले भारत आ गए थे। […]

Read More