IIT कानपुर में फ़ैज़ की नज़्म ‘हम देखेंगे’ की होगी जांच, क्या ये हिंदू विरोधी है ?

IIT कानपुर में फ़ैज़ की नज़्म ‘हम देखेंगे’ की होगी जांच, क्या ये हिंदू विरोधी है ?

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ की अमर नज़्म ‘ हम देखेंगे ‘,  उनके द्वारा जेल में लिखी गयी थी। पाकिस्तान में ज़ियाउलहक़ की तानाशाही के खिलाफ यह फ़ैज़ की बगावत थी। ऐसी बगावतें पहले भी कलम के सिपाहियों ने की है, अब भी कर रहे हैं, और आगे भी करते रहेंगे। यह कोई खास बात नहीं है। […]

Read More