कश्मीरी पंडितो के नाम पर क्या सिर्फ़ राजनीति होती है

कश्मीरी पंडितो के नाम पर क्या सिर्फ़ राजनीति होती है

1990 के दशक में जब कश्मीर में मिलिटेंसी का उभार हुआ तो कश्मीरी पंडितों को मारा गया। उन्हें जबरदस्ती कश्मीर छोड़ने को मजबूर किया गया। सरकार के आंकड़ों के मुताबिक करीब 66 हजार कश्मीरी पंडितों का परिवार विस्थापित हुआ। कश्मीर में जब बीजेपी और पीडीपी की सरकार बनी तो कॉमन अजेंडा में कश्मीरी पंडित और […]

Read More
 उपचुनाव में कम हुआ प्रतिशत, कश्मीर में सरकार की नाकाम कोशिशों का नतीजा है

उपचुनाव में कम हुआ प्रतिशत, कश्मीर में सरकार की नाकाम कोशिशों का नतीजा है

कल सोशलमीडिया पर एक पोस्ट देख रहा था, जिसमे कश्मीर में चुनाव के बाद ड्यूटी से लौटते हुए जवानों के साथ कश्मीरी लड़को की बदतमीज़ी का वीडिओ था, जिसे देख कर बहुत अफ़सोस हुआ। किस तरह से ये लड़के अपने सियासी आकाओं के बहकावे में अपनी ज़िन्दगी और मौत का सौदा कर रहे हैं. शायद […]

Read More
 क्या जमहूरियत और कश्मीरियत की आवाज में ही कुछ खराबी थी?

क्या जमहूरियत और कश्मीरियत की आवाज में ही कुछ खराबी थी?

कुल आठ लाशें गिरीं। आदमियों की लाशें… लोकतंत्र के कथित पोषकों की लाशें। दो दर्जन से भी अधिक लोग जख्मी हुए…! शायद लोकतंत्र थोड़ा और मरा या फिर भारत माता ही थोड़ी और जख्मी हो गयी। जो भी हो… लहू बहा। चीखें मचीं। सिंदूर पुछा। भारत माता के कई बच्चों के परिवारों में मातम मना। […]

Read More