3 जून को गांधीजी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का किया था आवाह्न

3 जून को गांधीजी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का किया था आवाह्न

भारत में हिंदी भाषा का एक लंबा इतिहास रहा है l हिंदी भाषा को समृद्ध और व्यापक बनाने में कई साहित्यकारों व राजनेताओं ने भरपूर प्रयास किए हैं। जिनमें महात्मा गांधी कान नाम सबसे ऊपर आता है। गांधी जी हिंदी भाषा को राजनैतिक तरीके से देश के कोने-कोने में पहुंचाया। हिन्दी भाषा के विकास और […]

Read More
 महावीर प्रसाद द्विवेदी के बिना हिंदी साहित्य की कल्पना नहीं की जा सकती

महावीर प्रसाद द्विवेदी के बिना हिंदी साहित्य की कल्पना नहीं की जा सकती

आधुनिक हिन्दी साहित्य को समृद्धशाली बनाने वाले आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी की 15 मई को जयंती है.आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी का जन्‍म सन् 15 मई 1864 को रायबेरली(उ.प्र.) के दौलतपुर नामक ग्राम में हुआ था.उनके पिता श्री रामसहाय द्विवेदी अंग्रेजी सेना में नौकर थे. धन की कमी होने के कारण द्विवेदी जी की शिक्षा अच्छी […]

Read More