सरदार खालिस्तानी और हम पाकिस्तानीः महबूबा मुफ्ती

सरदार खालिस्तानी और हम पाकिस्तानीः महबूबा मुफ्ती

हाल ही में  महबूबा मुफ्ती ने अफगानिस्तान पर दिए बयान को लेकर विवादों के घेरे में घिरी थी। जिसका काफी विरोध भी हुआ था। अब फिर से केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि देश में जो कोई भी मुद्दे उठाता है, बीजेपी उसे देश विरोधी करार दे देती है। सरदार ‘खालिस्तानी’, हम […]

Read More
 कृषि व्यवस्था में महिलाओ की भूमिका अहम है

कृषि व्यवस्था में महिलाओ की भूमिका अहम है

यदि एक शब्द में इस सौ दिन से चल रहे किसान आन्दोलन की उपलब्धि बतायी जाय तो वह है जनता का निंद्रा से उठ खड़ा होना। यानी जाग जाना, जागरूकता। जनता में अपने अधिकारों और श्रम की उचित कीमत के लिये खड़े होने का साहस और निर्भीकता, इस किसान आंदोलन की सबसे बडी उपलब्धि है। […]

Read More
 किसानों का यह आंदोलन क्या बदलाव की एक नयी इबारत लिख पायेगा ?

किसानों का यह आंदोलन क्या बदलाव की एक नयी इबारत लिख पायेगा ?

2014 में भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के प्रबल झंझावात के बल पर भाजपा/ एनडीए की सरकार बनी थी। उम्मीदे भी थी, और गुजरात मॉडल का मायाजाल भी। नरेंद्र मोदी की क्षमता पर ज़रूरत से ज्यादा लोगों को भरोसा भी था। कांग्रेस का दस वर्षीय कार्यकाल खत्म हो रहा था। सबसे अधिक उम्मीद थी कि 2014 में […]

Read More
 किसानों की क़र्ज़ माफ़ी पर हंगामा, बैंकों को एक लाख पर चुप्पी क्यों?

किसानों की क़र्ज़ माफ़ी पर हंगामा, बैंकों को एक लाख पर चुप्पी क्यों?

क्या आपको पता है कि बैंकों को फिर से 410 अरब रुपये दिए जा रहे हैं? वित्त मंत्री जेटली ने संसद से इसके लिए अनुमति मांगी है। यही नहीं सरकार ने बैंकों को देने के लिए बजट में 650 अरब का प्रावधान रखा था। बैंकों की भाषा में इसे कैपिटल इन्फ्लो कहा जाता है। सरकार […]

Read More
 मध्यप्रदेश में सरकारी व्यवस्थाओं के शिकार एक और किसान की मौत

मध्यप्रदेश में सरकारी व्यवस्थाओं के शिकार एक और किसान की मौत

लगता है जैसे किसानों को लेकर सरकार का रवैया अब बदलने वाला नहीं है. भारतीय जनता पार्टी की राज्य और केंद्र की सरकार ये मानकर बैठी है, कि कुछ भी हो जाये जनता हिंदुत्व के नाम पर उन्हें ही वोट देगी. इसी बीच किसानों की मृत्यु की खबरें देश के अलग-अलग हिस्सों से आ रही […]

Read More
 क्या आपको स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें पता हैं ?

क्या आपको स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें पता हैं ?

भारत मे कई सालों से अच्छे और प्रासंगिक आंदोलनों का अभाव से हो गया था, लोग अपनी मांगों को मनवाने के लिए या विरोध दर्ज कराने के लिए हिंसक प्रदर्शन या नारेबाज़ी तक ही सिमट कर रह गए थे, ऐसा शायद इसलिए कि एक शांतिपूर्ण और जायज़ मांगो वाला आंदोलन हर आंदोलनकारी से सयंम, विश्वास, […]

Read More
 नज़रिया – नंगे पाँव चलता किसान उनको माओवादी नज़र आता है

नज़रिया – नंगे पाँव चलता किसान उनको माओवादी नज़र आता है

क्या किसी विरोधी विचारधारा के किसान संगठन के बैनर तले इकठ्ठा होकर किसान प्रदर्शन करें तो भारतीय जनता पार्टी और संघ के लोगों को किसानों की मांग और प्रदर्शन पर सवाल उठाने का अधिकार मिल जाता है. देश की लगभग हर राजनीतिक पार्टी और विचारधारा सरे सम्बन्ध रखने वाले अलग-अलग संगठन कार्य कर रहे हैं. […]

Read More
 मध्यप्रदेश में किसानों के साथ धरने पर बैठे "यशवंत सिन्हा"

मध्यप्रदेश में किसानों के साथ धरने पर बैठे "यशवंत सिन्हा"

मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में एनटीपीसी पावर प्लांट और किसानों के बीच चल रही लड़ाई थमने का नाम नहीं ले रही है. पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा एमपी में आंदोलनकारी किसानों पर दर्ज मामलों को वापस लेने की मांग पर धरने पर बैठ गए. मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में एनटीपीसी में भूमि देने वाले आंदोलनकारी […]

Read More
 यूपी के सीतापुर में दलित किसान को ट्रैक्टर से कुचला

यूपी के सीतापुर में दलित किसान को ट्रैक्टर से कुचला

अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाईम्स में छपी खबर उत्तर प्रदेश के सीतापुर के भउरी गांव के एक दलित किसान की ट्रैक्टर के नीचे कुचल कर हत्या कर दी गई। अखबार के मुताबिक पुलिस ने बताया कि- 45 वर्षीय ज्ञान चंद्र ने साल 2015 में फायनेंस कंपनी से 5 लाख रुपए का लोन लिया था, उसने 4 […]

Read More
 कौन है राजस्थान का ये किसान नेता, जिसकी रैली में उमड़ रहा जनसैलाब

कौन है राजस्थान का ये किसान नेता, जिसकी रैली में उमड़ रहा जनसैलाब

7 जनवरी को बाड़मेर में हुई किसान हुकार रैली पुरे राजस्थान में चर्चा का विषय रही। बताया जा रहा है,की इस रैली में लाखों किसान एवम किसान पुत्र मौजूद रहे। इस मौके पर तीसरे मोर्चे के खड़े होने के साफ संकेत भी मिले। किसान हुकार रैली को उत्तर प्रदेश,राजस्थान, हरियाणा के किसान नेताओ नेसंबोधित किया। […]

Read More