भारत गहरी आर्थिक मंदी की चपेट में !

भारत गहरी आर्थिक मंदी की चपेट में !

‘भारत गहरी आर्थिक मंदी की चपेट में !’ क्या यह हेडलाइन किसी अखबार में पहले पन्ने पर बड़े बड़े फॉन्ट में आज कही छपी है ? कल सरकार ने इस वित्तवर्ष की दूसरी तिमाही के परिणाम घोषित किये है 2020-21 की दूसरी तिमाही की जीडीपी में 7.5 फ़ीसद की गिरावट दर्ज की गई है और […]

Read More
 गंभीर आर्थिक मंदी की चपेट में भारत, निपटने के लिए सरकार के पास क्या उपाय हैं ?

गंभीर आर्थिक मंदी की चपेट में भारत, निपटने के लिए सरकार के पास क्या उपाय हैं ?

शेयर मार्केट में अफरातफरी भरी गिरावट 8 नवंबर 2016 को लागू किये गए मूर्खतापूर्ण कदम नोटबंदी के परिणाम हैं। तब कहा गया था कि इसके दूरगामी परिणाम होंगे। मित्रों हम उसी दूरगामी परिणाम की मंज़िल तक पहुंच गए हैं। आज (12 मार्च 2020) शेयर बाजार लगातार गिर कर 500 अंको की वृद्धि के साथ कुछ […]

Read More
 यह तीन मामले भारत की अर्थव्यवस्था का भविष्य तय करेंगे

यह तीन मामले भारत की अर्थव्यवस्था का भविष्य तय करेंगे

मार्च का मध्य हिस्सा भारतीय इकानॉमी के दशा और दिशा तय करने के लिए बेहद महत्वपूर्ण सिद्ध होने वाला है, इसके तीन प्रमुख कारण है – यस बैंक यस बैंक को 14 मार्च तक की डेडलाइन दे दी गई है। इस अवधि तक उसे 2 अरब डॉलर का फण्ड जुटाना है, यस बैंक भारतीय बैंकिंग […]

Read More
 सरकार के राजस्व संग्रह में भारी कमी, आरबीआई से फिर पैसा लेने की तैयारी

सरकार के राजस्व संग्रह में भारी कमी, आरबीआई से फिर पैसा लेने की तैयारी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सरकार के राजस्व संग्रह में लगातार कमी आ रही है। हर महीने होने वाला जीएसटी कर संग्रह अनुमान के अनुसार कम हो रहा है। सभी आर्थिक सूचकांक गिरावट और बेरोजगारी, भुखमरी, बैंकिंग घोटाले, बैंकों के एनपीए के आंकड़े वृध्दि की ओर हैं। राजस्व संग्रह में आई कमी के चलते केंद्र सरकार […]

Read More
 भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है अमेरिका

भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है अमेरिका

अम्बानी के मोटे चुनावी चंदे की चाहत में मोदीजी ने अमेरिका को भी नाराज कर दिया है, कल खबर आई है कि अमेरिका, भारत से यूएस ट्रेड कन्सेशन वापस ले सकता है, जिसके तहत भारत के 5.6 अरब डॉलर (40 हजार करोड़ रुपए) के एक्सपोर्ट पर अमेरिका में कोई टैक्स नहीं लगता है. अगर ऐसा […]

Read More
 पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

कल एक हैरान करने वाली खबर आई कि पीएम मोदी के साढ़े 4 साल के कार्यकाल में भारत सरकार पर 49 फीसदी का कर्ज बढ़ा है, केंद्र सरकार ने कर्ज पर कल अपनी स्टेटस रिपोर्ट का आठवां संस्करण जारी किया जिसके मुताबिक जून, 2014 में सरकार पर कुल कर्ज 54,90,763 करोड़ रुपये था, जो सितंबर […]

Read More
 अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में देश के लिए दो बुरी ख़बरें आई हैं

अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में देश के लिए दो बुरी ख़बरें आई हैं

2 जनवरी 2019 – अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर 2 बुरी खबरे हैं. वित्‍त मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक दिसंबर का जीएसटी कलेक्‍शन तीन महीनों में सबसे कम है ओर मुद्रा लोन योजना के तहत साल 2017-18 के दौरान पिछले साल की अपेक्षा सरकारी बैंकों का एनपीए दोगुना हो गया है. जीएसटी कलेक्शन […]

Read More
 मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदी राज के चार साल में 21 सरकारी बैंको ने 3 लाख 16 हज़ार करोड़ के लोन माफ कर दिए हैं। क्या वित्त मंत्री ने आपको बताया कि उनके राज में यानी अप्रैल 2014 से अप्रैल 2018 के बीच तीन लाख करोड़ के लोन माफ किए गए हैं? यही नहीं इस दौरान बैंकों को डूबने […]

Read More
 क्या मोदी सरकार के इस कदम से, कैश वितरण प्रणाली में विदेशी कम्पनियों का कब्ज़ा हो जायेगा ?

क्या मोदी सरकार के इस कदम से, कैश वितरण प्रणाली में विदेशी कम्पनियों का कब्ज़ा हो जायेगा ?

देश के लाखों कर्मचारियों पर रोजगार का संकट आ गया है ओर देशी कम्पनियो की जगह विदेशी कम्पनियों को बड़ी चतुराई से अंदर किया जा रहा है देश की कैश इन ट्रांजिट यानी कैश वितरण प्रणाली के बिजनेस में शामिल साठ कंपनिया भारतीय रिजर्व बैंक के एक ताजा सर्कुलर से बन्द होने की कगार पर […]

Read More
 अर्थ जगत की कुछ ख़बरों को जानने में बुराई नहीं है – रविश कुमार

अर्थ जगत की कुछ ख़बरों को जानने में बुराई नहीं है – रविश कुमार

वरिष्ठ पत्रकार रविश कुमार अपनी पत्रकारिता और एंकरिंग में धमाल मचाने के बाद आजकल सोशलमीडिया में अपनी पत्रकारिता से धमाल मचाये हुए हैं. तथ्यों और ख़बरों पार आधारित उनकी फ़ेसबुक पोस्ट बहुत ज़्यादा पसंद की जाती हैं. फ़िलहाल उन्होंने देश की प्कुछ प्रमुख आर्थिक घटनाओं पर एक फ़ेसबुक पोस्ट की है, पेश है रविश की […]

Read More