मुंबई से एक महिला डॉक्टर की आत्महत्या का मामला सामने आया है, जिसमें आत्महत्या की वजह सीनियर डॉक्टर्स द्वारा जातिगत भेदभाव और टिप्पणियां व अपमान बताया जा रहा है. मृतक के परिजनों की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपियों को आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा लगाई गई  है.

दरअसल मामला ये है, कि डॉक्टर पायल तडवी मुंबई के नायर अस्पताल के टॉपिकल नेशनल मेडिकल कॉलेज में गायनोकोलॉजी एंड ऑब्स्टेट्रिक्स  में पीजी कर रही थीं, और वह यहाँ पर सेकेंड ईयर की छात्रा थीं. 26 वर्षीय रेजिडेंट डॉक्टर पायल तड़वी के परिवार का आरोप है कि तीन सीनियर डॉक्टर्स के प्रताड़ना से परेशान होकर 22 मई को उनकी बेटी पायल ने अपने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी.

2016 में पायल की शादी डॉ सलमान तडवी से हुई थी, सलमान मुंबई के बालासाहेब ठाकरे मेडिकल कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं. पायल की मां आबेदा तडवी का आरोप है कि उनकी बेटी ने बताया था कि आदिवासी होने के कारण सीनियर महिला डॉक्टर उसे मानसिक रूप से बहुत प्रताड़ित करती हैं. उसे जातिवादी गालियां दी जाती हैं.

पायल तडवी के सुसाइड मामले में उनके परिवार के लोगों के आरोपों के आधार पर उनके साथ काम करने वाली तीनों सीनियर डॉक्टरों  डॉ. हेमा आहुजा, डॉ भक्ती अहिरे और डॉ. अंकिता खंडेलवाल की अग्रीपाडा थाने में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है. तीनों सीनियर महिला गायनेकोलॉजिस्ट हैं. पुलिस ने आईपीसी की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना), एससी/एसटी एक्ट, एंटी रैगिंग एक्ट के तरत मामला दर्ज कर लिया है. इस घटना के बाद से ही तीनों आरोपी लड़कियां फरार हैं. फिलहाल किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

डॉ सलमान तडवी ने न्यूज़ वेबसाईट द प्रिंट को बताया कि- पायल ने जब उनसे इस बारे में बातचीत की, तो मैंने हैड ऑफ़ डिपार्टमेंट से बात किया था और मैंने कहा था, कि मुझे मेरी पत्नी खुश चाहिये. इसके बाद उन्होंने पायल को एक कोर्स के लिए दूसरी यूनिट में भेज दिया. फरवरी 2019 तक वो ठीक थी. ‘उसके बाद उसे नए सेमेस्टर में वापस उसी यूनिट में आना पड़ा.

वापस आते ही तीनों डॉक्टर्स ने उसे फिर हैरेस करना शुरू कर दिया. हमने फिर शिकायत की. लेकिन इस बार जो प्रोफेसर पहले पायल को सुलझी हुई और समझदार बता रही थीं वो भी उन लड़कियों की साइड लेने लगीं. हमने पायल को समझाया कि एडमिशन के दौरान नए जूनियर्स आएंगे तो इन लड़कियों का ध्यान बंट जाएगा लेकिन नया बैच आने के बाद इन लड़कियों ने उसको जूनियर्स के सामने भी हैरेस करना शुरू कर दिया.

पायल ने इस प्रताड़ना से तंग आकर मौत को गले लगा लिया, जातिगत प्रताड़ना के इस केस के सामने आने के बाद सोशल मीडिया में पायल के लिए #JusticeForDrPayal ट्रेंड हो रहा है.इस पर कई लोग ट्वीट कर रहे हैं.

देखें पायल के समर्थन में किसने क्या ट्वीट किया