कांग्रेस

राहुल की हुई अधिकारिक ताजपोशी

राहुल की हुई अधिकारिक ताजपोशी

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी की आज ताजपोशी हो गई. 132 साल पुरानी पार्टी की कमान अब राहुल गांधी के हाथों में होगी. नेहरू-गांधी परिवार की पांचवीं पीढ़ी के राहुल गांधी कांग्रेस की कमान अपने हाथों में लेने जा रहे हैं. जबकि राहुल नेहरू-गांधी परिवार के छठे शख्स हैं, जो कांग्रेस के अध्यक्ष बनने जा रहे हैं. राहुल गांधी से पहले मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरु, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी के हाथों में पार्टी की कमान रही है.

साभार: ANI

राहुल गांधी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान संभाल ली है. पार्टी के चुनाव अधिकारी एम. रामचंद्रन ने उन्हें यहां पार्टी मुख्यालय में एक समारोह में अध्यक्ष चुने जाने का प्रमाणपत्र दिया. समारोह में राहुल गांधी की मां एवं कांग्रेस की निवर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पार्टी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोहरा, पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी, पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता तथा बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे. इस मौके पर राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा भी मौजूद थे. राहुल गाँधी फॅमिली से छठे अध्यक्ष है. इनसे पहले नेहरू-गांधी परिवार में से  कांग्रेस अध्यक्ष मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और  सोनिया गांधी अध्यक्ष रह चुके है.
प्रियंका गाँधी

ताजपोशी के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने सीधे भाजपा और पीएम मोदी पर तीखा हमला बोला.
राहुल के भाषण की मुख्य बातें

  • 13 साल पहले मैं राजनीति में आया था. आज लोगों की सेवा के लिए राजनीति का उपयोग नहीं हो रहा है बल्कि जनता को कुचला जा रहा है.
  • आज देश में लोगों को इसलिए पीटा जाता है कि उनका विश्वास अलग है और उनको खाने के लिए भी मार दिया जाता है.
  • आज वे इसलिए जीत जाते हैं क्योंकि वे ताकतवर हैं। वे हमपर हमले करते हैं लेकिन वे हमें केवल हरा सकते हैं, उनका गुस्सा हमें मजबूत बनाता है। हम कमजोर नहीं होंगे। हम देश के भविष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं.
  • हम उनके लिए लड़ते हैं जो अकेले हैं और हम सौहार्द के लिए खड़े होते हैं। हम बीजेपी के साथ सहमत न होते भी उन्हें भाई-बहन मानते हैं. हम घृणा के खिलाफ प्यार से लड़ते हैं। वे आवाज को दबाते हैं, हम बोलने की आजादी देते हैं.
  • एक बार आग लग जाती है तो उसे बुझाना बहुत मुश्किल होता है. यही बात मैं बीजेपी को समझाना चाहता हूं. बीजेपी के लोग पूरे देश में आग और हिंसा फैला रहे हैं. वो तोड़ते हैं हम जोड़ते हैं. वो आग लगाते हैं हम बुझाते हैं.
About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *