इंडियन एयरफोर्स की फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी ने इतिहास रच दिया है. वो फाइटर प्लेन को अकेले उड़ाने वाली देश की पहली महिला फाइटर पायलट बन गई हैं.
मध्‍य प्रदेश के रीवा जिले से ताल्‍लुक रखने वाली अवनी ने शायद ही कभी सोचा था कि वह एक दिन इतिहास रच देंगी और अकेले फाइटर प्लेन उड़ाने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बन जाएंगी.
लेकिन उन्‍होंने ऐसा कर दिखाया, जब सोमवार को उन्‍होंने गुजरात के जामनगर एयरबेस पर अकेले ही करीब 30 मिनट तक MiG-21 विमान उड़ाया.

  • गौतरलब है कि केंद्र सरकार ने साल 2015 में महिलाओं को फाइटर पायलट में शामिल करने का फैसला किया था.
  • 18 जून 2016 को महिला फाइटर पायलट बनने के लिए पहली बार तीन महिलाओं अवनि चतुर्वेदी, मोहना सिंह और भावना कांत को वायु सेना में कमिशन किया गया था.
  • अवनी इस कड़ी में पहली महिला पायलट हैं, जिन्‍होंने जामनगर में सोमवार दोपहर अकेले ही फाइटर प्‍लेन उड़ाया.
  • इस अवसर पर एयर कमोडोर प्रशांत दीक्षित ने कहा कि ‘यह भारतीय वायु सेना और पूरे देश के लिए एक विशेष उपलब्धि है’
  • वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने उन्‍हें इस ऐतिहासिक सफलता पर बधाई देते हुए कहा कि यह देश के लिए बेहद महत्‍वपूर्ण दिन है.
About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *