जब सारा देश मोबलिचिंग की आग की झुलस रहा है तो ऐसे में मध्यप्रदेश कैसे पीछे रह सकता है, मोब लिचिंग की आग यहां तक पहुंच गई अभी तक सुनते आ रहे थे की दलित-मुसलमानो का उत्पीड़न हो रहा है. आज हम भी उसके गवाह बन गए, घटना 15 तारीख की है सिरोंज से एक मुस्लिम परिवार अपनी क्वालिस गाड़ी से गंजबासौदा अपनो रिश्तेदारों से मिलने जा रहे थे, उस गाड़ी मे दो नौ उम्र लड़के और तीन महिलाएं सवार थी जिनमें ललिता बाई अहिरवार भी शामिल थी. जब ये लोग ऊहर गांव पहुंचे तो एक भैंस के बच्चा गाड़ी से टकराया जिसे लेकर वहां मौजूद ग्रामीणो ने गाड़ी को घेर लिया और सैफ़ अली के साथ मारपीट शुरू कर दी और जब गाड़ी मे मौजूद महिलाओ ने विरोध किया तो उन गांववालों ने महिलाओं को गाड़ी से खींचकर मारना शुरू कर दिया और अज़रा बी के पेट में लाते मारी जिससे वो बेहोश हो गई ।

साथ ही ललिता बाई अहिरवार को भी बहुत मारा जिन्हे घायलावस्था में सिरोंज अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से हमीदिया भोपाल रैफर कर दिया जहां अभी तक अज़रा बी की हालत गंभीर बनी हुई है, और इस सारे घटनाक्रम में सबसे अजीब बात ये रही की मामले को रफादफा करने की कोशिश की गई और उस दिन तक इस मामले में कोई रिपोर्ट दर्ज नही की गई थी जब घायलों को भोपाल ले जाया गया तब भोपाल के कांग्रेस नेता आरिफ मसूद की वजह से मामला ज़ीरो पर दर्ज कर गंजबासौदा केस ट्रांसफर किया गया बाकी मामले की जानकारी वीडियो में है.

मध्यप्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस के अधय्क्ष मुजीब कुरैशी कह रहे हैं की हमने मुस्लिम कार्यकर्ताओं को समझा दिया है वो किसी के बहकावे में न आएं और मुस्लिम समुदाय पूरी तरह से कांग्रेस के साथ है, क्योंकि भाजपा धर्म के नाम पर लड़ाकर वोट मांगने की कोशिश करेगी।

मैं एक मुस्लिम वोटर होने के नाते इनसे सवाल करता हूं की आप कौन होते हैं क़ौम के वोटो का सौदा करने वाले और मुसलमान इनके कहने पर कांग्रेस को वोट क्यों दे, और वोट भी दे और जब जूते खाएं तो कोई कांग्रेसी पूछने भी न आए।

अभी पांच दिन पहले सिरोंज के पास एक मोबलिचिंग का केस सामने आया जिसमें एक मुस्लिम महिला को बेरहमी से पीटा गया था, हमारी सिरोंज विधानसभा में 38000 मुस्लिम वोटर्स हैं और विधायक महोदय भी कांगेस से ही है और जिस क्षेत्र में कायरों ने ये घटना को अंजाम दिया उस क्षेत्र के विधायक भी कांग्रेसी हैं और इस घटना में पीड़ित लोग भी बहुत पुराने कांग्रेसी हैं।

तो अब मैं पूछना चाहता इन मुस्लिम वोटर्स के ठेकेदार महोदय से की पांच दिन से आप और आपकी कांग्रेस कहां हैं कहां गए आपके दिग्गज कांग्रेसी नेता, कहां गए आपके दोनो विधायक और कहां गए वो लोग जो सिरोंज की गंगा जमुनी तहज़ीब की मिसाले देते हैं, क्या पीड़ितों को कोई पूछने आया, क्या वो लोग उन पीड़ितों का हाल पूछने गए जिन मुसलमानों के दम पर आप कांग्रेस से टिकट मांगने के लिये अपने आकाओ के चक्कर काट रहे हैं।

क्या आपको अपनी औरतो का सड़को पर पिटना मंजूर है लेकिन आवाज़ उठाना इसलिये मंजूर नही के कहीं वोट न कट जाए, याद रखिये ये सवाल आपसे हर मुस्लिम मतदाता पूछेगा जब आप उससे अपने वोट की भीख मांगने आओगे।