क्रिकेट

जानिए कोहली की टीम में किसे हुआ कोरोना

जानिए कोहली की टीम में किसे हुआ कोरोना

इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम के लिए एक बुरी खबर आई है। इस दौरे पर गए 23 खिलाड़ियों में से दो खिलाड़ी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से एक खिलाड़ी की कोविड संक्रमण के बाद रिर्पोट नेगेटिव आने की खबरें सामने आ रही हैं।

दरअसल, न्यूजीलैंड के साथ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) फाइनल के बाद इंग्लैंड में 20 दिनों के ब्रेक पर थे। लेकिन अब खिलाड़ियों कुछ के पॉजिटिव पाए जाने के बाद खबर आ रही है कि बीसीसीआई ने उन्हें टीम के साथ डरहम जाने से मना कर दिया है।

जय शाह ने भेजा था वार्निंग मेल

टीम में कोविड केसों का खुलासा तब हुआ, जब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ke सेक्रेटरी जय शाह ने इंडियन क्रिकेट टीम के लिए कंसर्न लेटर भेजा था।

अब जब ये वार्निंग मेल भारतीय क्रिकेट टीम को मिल चुका है तो अब इंडियन टीम के खिलाड़ी अलग अलग डरहम पहुचेंगे। इसके बाद इन सभी खिलाड़ियों को बायो-बबल में शामिल कर लिया जाएगा।

नहीं किया था खिलाड़ी का नाम उजागर अब सामने आया ऋषभ पंत का नाम

पीटीआई (PTI) के हवाले से बीसीसीआई ने कहा कि -“हां, एक खिलाड़ी पॉज़ीटिव पाया गया था लेकिन अब उसमें किसी भी तरह के लक्षण नहीं हैं. अब वो एक परिचित के यहां क्वारंटीन है और टीम के साथ गुरूवार को डरहम नहीं जा रहा है।”

हालांकि इंग्लैंड का दौरे पर गई भारतीय टीम ने कोविड पॉजिटिव खिलाड़ी का नाम पहले उजागर नही किया था। लेकिन मीडिया रिपोर्ट की माने तो कोविड पॉजिटिव खिलाड़ी ऋषभ पंथ हो सकते हैं। और अब यह लगभग कन्फ़र्म हो चुका है कि ऋषभ पंत पॉज़िटिव पाए गए हैं।

इंग्लैंड में बढ़ रहे हैं डेल्टा वेरिएंट के केस

इंग्लैंड में कोरोना डेल्टा वेरिएंट के केसों में लगता इज़ाफा हो रहा है।ऐसे में खिलाड़ियों का घूमना खतरनाक हो सकता हैं।
क्रिकइंफो की माने तो, जय शाह ने भारतीय दल को जो चिट्ठी लिखी थी। उसमें जय शाह ने खिलाड़ियों से भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की अपील की है, जय शाह ने अपने मेल में आगे कहा कि “कोवीशील्ड वैक्सीन आपको इस वायरस से सिर्फ प्रोटेक्शन देती है।

इसके अलावा जय शाह ने अपने मेल पर खासतौर पर अपनी चिट्ठी में खिलाड़ियों से विम्बलडन और यूरो चैम्पियनशिप के मैचों में न जाने पर जोर दिया।

एक साथ नहीं जाएगी भारतीय टीम

बीसीसीआई ने आगे बताया कि भारतीय टीम एक साथ डरहम नहीं जा रही है। सभी खिलाड़ी अकेले ही डरहम जा रहे हैं, ताकि संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके। वहां पहुंच कर सभी खिलाड़ियों को क्वारंटीन किया जाएगा या फिर सभी खिलाड़ियों को एक साथ बायो-बबल में जाएंगे।

क्या होता है बायो-बबल

बायो-बबल एक ऐसा वातावरण या माहौल है, जिसमें प्रवेश करने वाले व्यक्ति का बाहरी दुनिया से कोई मतलब नहीं होता। बायो-बबल में रहने वाले खिलाड़ियों को उनके दोस्त रिश्तेदारों से मिलने की भी अनुमति नहीं होती।

  • इस वातावरण में प्रवेश करने के लिए सभी खिलाड़ियों को कोविड टेस्ट से लगभग 3 बार गुजरना होता है। उसके बाद ही खिलाड़ियों को बायो-बबल प्रवेश दिया जाता है।
  • यहां तक की मैच या सीरीज के दौरान काम करने वाला स्टाफ भी इस बायो-बबल से बाहर नहीं जा सकता है।
  • चाहें कोच हो, या कोविड टेस्ट करने वाले डॉक्टर या निचले स्तर पर काम करने वाला कर्मचारी।
  • सभी को सिर्फ मैदान और होटल में रहने की अनुमति होती है। इसके अलावा खिलाड़ी बायो-बबल में रहने वाले लोगों से ही मिल सकते हैं।

20 से 22 जुलाई के बीच होना था वार्मअप मैच

इंडियन क्रिकेट टीम के खिलाड़ी ऐसे वक्त में कोरोना संक्रमित हुए हैं जब उन्हें कुछ दिन बाद ही वार्मअप मैच खेलना है। बीसीसीआई के कहने पर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने 20 से 22 जुलाई के बीच काउंटी चैम्पियनशिप इलेवन टीम और भारत का के बीच एक वार्मअप मैच तय किया है। आपको बता दें कि भारतीय टीम चार अगस्त से इंग्लैंड के साथ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ खेलने जा रही है।

About Author

Heena Sen