जम्मू कश्मीर के कांग्रेसी नेता सलमान निजामी ने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी पर ट्वीटर के माध्यम से निशाना साधा है.अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि
“मोदी के द्वारा मुझे फर्जी ट्वीट्स पर निशाना बनाने के बाद 50 से ज़्यादा बार मौत की धमकियाँ मिल चुकी हैं, लेकिन भक्तों को निराश करने के लिए अफ़सोस है, मैं कहीं भी नहीं जा रहा हूं.मैं एक बहुत बड़ी आबादी और धर्मनिरपेक्ष भारत के लिए लड़ना जारी रखूंगा. मैं तुम्हारा डरपोक ‘आका’ ​​नहीं हूं जिसने 1975 में अपने असली चेहरे को छुपाने के लिए एक सिक्ख की वेशभूषा ले ली थी.”


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान सलमान निजामी को उनके तथाकथित देशविरोधी ट्वीट्स को लेकर उनके साथ साथ पूरी कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया था. हालांकि सलमान निजामी उन ट्वीट्स को लेकर पहले अपनी सफाई दे चुके हैं. अब उन्होंने मोदी पर अपने इस ट्वीट के माध्यम से निशाना साधा है.

कश्मीर घाटी का जाना माना चेहरा है निजामी

बता दें कि सलमान निजामी कश्मीर घाटी के रहने वाले है. दशकों से वे वहां की राजनीतिक  समस्याओं के बारे में लिखते रहें हैं. कश्मीर पर उनके लिखे लेख लगभग देश की सभी प्रतिष्ठित अखबार और पत्रिकाओं में छप चुके हैं. कांग्रेसी नेता ने मार्च 2015  में पार्टी की सदस्यता ली थी तभी से वह घाटी में जाना माना चेहरा हैं.जम्मू-कश्मीर कांग्रेस कमिटी में उन्हें ज्वाइंट सेक्रेटरी का पद दिया गया है. बकौल सलमान वह कांग्रेस नेता राहुल गांधी से व्यक्तिगत रूप से काफी प्रभावित हैं, इसलिए उन्होंने कांग्रेस का हाथ थामा.

क्या थे वो विवादित ट्वीट्स

साल 2015 में जब निजामी ने कांग्रेस की सदस्यता ली तभी उनके कुछ पुराने ट्वीट चर्चा में आ गए, जो उन्होंने 2013 में किए थे. आरोप है इन ट्वीट में निजामी ने कश्मीर की आजादी का समर्थन करते हुए बातें लिखी थीं.

मोदी ने क्या कहा था रैली में?

पीएम मोदी ने रैली में कहा, ‘’कांग्रेस नेता कहते हैं कि हर घर से अफजल निकलेगा. लेकिन यहां का मुस्लिम भी ऐसा नहीं कहता. क्या गुजरात की जनता इसे माफ करेगी?’’ उन्होंने कहा, ‘’वह गुजरात में चुनाव प्रचार करने आया है. वो कहता है कि हमें आजाद कश्मीर चाहिए. वो कहता है कि देश की सेना रेपिस्ट है. मां-बहनों का बलात्कार करने वाली सेना है. क्या गुजरात की जनता इसे माफ करेगी?’’

सलमान निजामी ने दी थी सफाई

अपनी सफाई में सलमान निजामी ने कहा था कि‘’वायरल हो रहे ट्वीट साल 2013 के हैं और यह फेक ट्वीट थे. इस बारे में मैंने साल 2015 में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी.’’ उन्होंने कहा है कि मैं कांग्रेस का सदस्य हूं और ‘हर घर से अफजल निकलेगा’ वाला ट्वीट मेरा नहीं है. मेरा अकाउंट हैक हो गया था.’’
निजामी ने आगे कहा था कि‘’मैं उस पार्टी के साथ हूं जिसने अफजल गुरु को फांसी दी थी. मैंने कभी अफजल गुरु को शहीद नहीं कहा. मैं खुद आतंकवाद के खिलाफ हूं और मुझे ही देशविरोधी बताया जा रहा है.’’
उन्होंने कहा, ‘’मेरे नाम पर छह अकाउंट बने हुए थे. मुझे इन ट्वीट्स के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. मैं फख्र से कह रहा हूं कि मैं हिंदुस्तानी हूं.’’ उन्होंने बताया, ‘’मोदी जी झूठ बोल रहे हैं. वह फेक ट्वीट के जरिए मुझपर निशाना साध रहे हैं. मैं हमेशा अपनी सेना के साथ हूं.’’ 

About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *