चार्ली चैपलिन एक ऐसे हास्य थे अभिनेता जो जिंदगी भर लोगों को अपने मूक अभिनय से हंसाते रहे,लेकिन अफसोस की बात देखिये कि उनकी मृत्यु के बाद जब उन्हें ताबूत में दफनाया गया तो चोर उस ताबूत को ही ले भागे.
आज के दिन 17 मई को मशहूर कॉमेडियन चार्ली चैपलिन का चुराया गया ताबूत खोज निकाला गया था.साल 1977 में स्विट्जरलैंड में चार्ली चैपलिन की मौत हुई थी. महान हास्य अभिनेता चार्ली चैपलिन के निधन के बाद उन्हें स्विट्जरलैंड की जेनेवा झील के पास दफनाया गया था. लेकिन दो चोर उनके ताबूत को वहां से खोद कर चुरा ले गए और उनके परिवार से ताबूत के बदले चार लाख पाउंड की वसूली की मांग करने लगे.
चार्ली चैपलिन की पत्नी ने चोरों की इस मांग को मानने से इनकार कर दिया. जांच में जुटी पुलिस ने टेलीफोन टैप किए और उसके बाद ताबूत के चोर पकड़ लिए गए. चार्ली चैपलिन के जन्म के बारे में कोई आधिकारिक रिकॉर्ड नहीं है. लेकिन कहा जाता है कि उनका जन्म 16 अप्रैल 1889 को लंदन में हुआ.
चार्ली चैपलिन की 51 वर्षीय विधवा लेडी ऊना चैपलिन ने ये मांग मानने से इनकार कर दिया, जिसके बाद चोरों ने उनके बच्चों को क्षति पहुंचाने की धमकी दे डाली.पुलिस ने चार्ली के परिवार और शहर के आस पास के क़रीब 200 टेलिफ़ोन बूथ टैप किये जिसके बाद उन दो चोरों को दबोच लिया गया.इस घटना के पीछे बहुत सी कहानियां सामने आती रहीं, लेकिन चार्ली के परिवार ने कभी किसी तर्क की पुष्टि नहीं की.एक हॉलिवुड रिपोर्ट के मुताबिक चार्ली चैपलिन की कब्र को इसलिए खोदा गया था क्योंकि वे एक यहूदी थे, जिन्हें ग़ैर-यहूदी कब्रिस्तान में दफ़नाया गया था.
कॉमेडी के जरिए पूरी दुनिया को लोट पोट कर देने वाले चैप्लिन का बचपन बहुत मुश्किलों में गुजरा. मां की बीमारी, पिता की मौत और कंगाली के बीच 13 साल की उम्र में वो वह स्टेज शो करने लगे.
1908 में एक कॉमेडी कंपनी के शो में एक छोटे से रोल ने लंदन में और ब्रिटेन में उन्हें मशहूर कर दिया. इसके बाद तो उन्हें कई शो और फिल्में मिली. 1916 आते आते वह सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय कॉमेडियन बन गए. पहले और दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान जब मानवता कराह रही थी तब 26 भाषाओं में चैप्लिन की मूक फिल्में लोगों को कुछ देर गम भुलाने में मदद कर रही थी.

Avatar
About Author

Durgesh Dehriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *