January 22, 2022
दिल्ली

दिल्ली में अघोषित लॉकडाउन हैं ?

दिल्ली में अघोषित लॉकडाउन हैं ?

देश भर में कोरोना (ओमिक्रोन) की तीसरी लहर बढ़ने लगी है। ओमिक्रोन के सबसे ज़्यादा मामले दिल्ली में देखने को मिल रहे है। ओमिक्रोन के सिम्टम्स माइल्ड है लेकिन इसकी फैलने की रफ़्तार बहुत तेज़ है। ओमिक्रोन केस बढ़ने के साथ साथ अब अस्पतालों में मरीज़ों की संख्या भी बढ़ने लगी है।

ऐसे में अब दिल्ली में पाबंदियां बड़ा दी गयी है, ये पूरी तरह से लोकडाउन नहीं हैं लेकिन लॉक डाउन से कम भी नहीं है। DDMA यानी दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने पाबंदियों को लेकर आदेश जारी कर दिए हैं। इसमें निजी कंपनियों को पूरी तरह से बंद करने, रेस्टोरेंट और बार को बंद करने के साथ साथ किसी स्थान पर जमावड़ा लगाने को लेकर पाबंदी हैं।

दिल्ली में कोरोना की ये हैं स्थिति :

देश भर में ओमिक्रोन पैर पसार चुका है, रोज़ना एक लाख से ज़्यादा केस आ रहें हैं। सोमवार को दिल्ली में 19 हज़ार 166 नए मामले दर्ज किए गए थे। 17 लोगो की मौत के साथ दिल्ली में कुल एक्टिव केस 65 हज़ार हो गए हैं। वहीं पॉजिटिविटी रेट 25 % हो गयी है।

प्रतीकात्मक तस्वीर



स्वास्थ्य विभाग के जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक बीते 10 दिन में दिल्ली में 70 लोगो की मौत हुई है। बीते रविवार और सोमवार को दिल्ली में 17- 17 मौत हुई हैं। बीते छह महीने में दिल्ली में मौत का आंकड़ा 130 रहा। वर्तमान में दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना के 1,912 मरीज़ भर्ती हैं। इनमे 443 ICU पर, 503 ऑक्सीजन स्पोर्ट पर और 65 वेंटिलेटर पर हैं।

संसद और सुप्रीम कोर्ट में कोरोना का कहर :

इस बीच संसद और सुप्रीम कोर्ट में कोरोना संक्रमण तेज़ी से बड़ा है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के 7 जज और 250 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए। रविवार को सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्री स्टाफ़ के 150 लोग संक्रमित मिले थे। इसमें CJI एन. वी. रमणा समेत 33 जज शामिल हैं। इससे पहले संसद के 400 कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी भी कोरोना पोसिटिव पाए गए थे।


ये दिल्ली में अघोषित लॉकडाउन है ?

मंगलवार 11 जनवरी से दिल्ली में सभी निजी कंपनियों को पूरी तरह से वर्क फ्रॉम होम (WFH)करने के लिए कहा गया है। रेस्टोरेंट को भी सख्ती से बंद किया गया है लेकिन सिर्फ रेस्टोरेंट में बैठकर खाना खाने के लिए, इसके अलावा रेस्टोरेंट होम डिलीवरी कर सकेंगे। बार और शराब की दूकानों को भी पूर्ण रूप से बंद किया गया है।

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू (तस्वीर : ANI)



इससे पहले नाईट कर्फ्यू, वीकेंड कर्फ्यू पहले से ही लागू है। डीटीसी बसें और मेट्रो 100 फीसदी की क्षमता से चलती रहेंगी। हालांकि दोनों में खड़े होकर ट्रेवल करना मना है। इसके अलावा बिना किसी ज़रूरी काम के घर से निकलने पर पाबंदी है। किसी स्थान पर जमावड़ा लगाने पर भी सख्त मनाही है।

इन लोगो को मिलेगी घर से निकलने की इजाज़त :

कड़ी पाबंदी के बीच दिल्ली में कुछ लोगो को कुछ विशेष स्थिति के साथ छूट दी जाएगी।

इनमे :

● दूतावास में काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों ID दिखाकर आ जा सकते।

● सुप्रीम कोर्ट, हाइकोर्ट और जिला अदालत के जज, अधिकारी और कर्मचारियों के साथ किसी मामले की सुनवाई वाले लोगो को घर से निकलने में छूट हैं। बस उनके पास ID कार्ड होना जरूरी है।

● प्राइवेट हॉस्पिटल और नर्सिंग होम वाले भी बाहर आ जा सकते है। बस उनके पास वैलिड ID कार्ड होना चाहिए।

● गर्भवती महिलाओं के साथ अन्य मरीज़ों को डॉक्टर से मिलने और मेडिकल इमरजेंसी में घर से बाहर निकल सकते है। उनके पास डॉक्टर की पर्ची और कार्ड होना चाहिए।

● कोरोना की जांच और वेक्सीनेशन के लिए भी बाहर आ जा सकते हैं।

वीकेंड कर्फ्यू के बाद दिल्ली में खुले बाजार (तस्वीर : ANI)



● रेलवे, बस स्टैंड, एयरपोर्ट पर जाने के लिए छूट है लेकिन सम्बंधित परिवहन की टिकट होनी चाहिए।

● मीडिया वालों को घर से निकलने की इजाज़त है। एग्जाम देने वाले भी एडमिट कार्ड के साथ घर से बाहर निकल सकते हैं।

● शादी में 20 लोगो की इजाजत है। शादी में जाने के लिए मैरिज कार्ड दिखाना होगा।


घर मे आइसोलेटेड पेशेंट के लिए योग क्लास :

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में जो लोग संक्रमित है और घर में आइसोलेटेड हैं उनके लिए 8 घण्टे के योग क्लास करवाने का निर्णय लिया है। ये योग क्लास बुधवार से शुरु होंगी। इससे पहले सभी कोरोना संक्रमितों को लिंक भेजकर पूछा जाएगा कि वो समय योग क्लास ले सकते हैं। अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में CM अरविंद केजरीवाल ने कहा, की योग क्लास के लिए बड़ी संख्या में योग ट्रेनर्स को तैयार किया गया है। हम एक बार में 40 हज़ार लोगो को योग क्लास देने में सक्षम हैं।

About Author

Sushma Tomar