देश

भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट

भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट
  • अब तक कुल 40 से ज्यादा केस आ चुके है सामने और 2 की हो चुकी है मौत
  • अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर है भारत

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया लगभग 2 सालों से जंग लड़ रही है। नवंबर 2019 में चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस पूरे विश्व में फैला था। एक साल तक वैश्विक महामारी बनकर तबाही मचाने के बाद, इसके केसेज में नवंबर 2020 से कमी आने लगी थी। फरवरी 2021 तक पूरा विश्व 90% इससे निजात पा चुका था।

मगर मार्च 2021 से इसकी दूसरी लहर के रूप में भारत में ही इसका नया वेरिएंट मिला। इस वेरिएंट को डबल्यू एच ओ ने डेल्टा नाम दिया। इसके बाद से एक बार फिर से कोरोना की रफ्तार तेज हो गई। खासकर भारत में इसका प्रकोप सबसे अधिक दिखा।

अब जब कोरोना के दूसरे लहर से देश दुनिया रिकवर ऑलमोस्ट कर चुका है, तब इसके तीसरे स्ट्रेन या तीसरे लहर की बातें तेज हो गई है।

क्या है कोरोना का तीसरा लहर?

भारत में मिले कोरोना के डबल म्यूटिनी स्ट्रेन (B.1.617.2) को डबल्यू एच ओ ने डेल्टा नाम दिया था। इसी स्ट्रेन में एक नई म्यूटेशयन K417N की पुष्टि की गई है। इसी नए म्यूटेशयन वाले वेरिएंट को स्वस्थ संगठन ने डेल्टा प्लस नाम दिया है।

यही डेल्टा प्लस वेरिएंट भारत में तीसरे लहर के लिए जिम्मेदार बताया जा रहा है।

देश भर में अब तक 40 डेल्टा प्लस के केस आ चुके है सामने

कोरोना के इस नए और अधिक घातक वेरिएंट, डेल्टा प्लस के पूरे भारत भर में कुल 40 से अधिक केसेज सामने आ चुके है। अप्रैल के महीने में इसका सबसे पहला केस सामने आया था। महज 2 महीने में ही 40 से अधिक केस सामने आना और 2 से अधिक मौत होना भयावह है।

किस राज्य में कितने केस?

महाराष्ट्र – यहां अब तक डेल्टा प्लस के कुल 24 से अधिक मामले सामने आए है। भारत में सबसे पहले डेल्टा प्लस का केस अप्रैल माह में रत्नागिरी और जलगांव से सामने आया था।

मध्य प्रदेश – यहां अब तक कुल 08 केस सामने आए है। इन सबमें 02 लोगों की जान भी गई है, जिसमे एक 59 साल की उज्जैन की महिला है। यहां डेल्टा प्लस भोपाल और शिवपुरी जिले से फैला था।

कर्नाटक – यहां अब तक कुल 02 केस सामने आए है। यहां पहला केस मयसुरू और दूसरा केस बेंगलुरु से सामने आया था।

केरला – यहां से अब तक कुल 03 केस देखने को मिले है। जिनमें से एक पथनमथीता के कड़पड़ा गांव के 4 साल के बच्चे में डेल्टा प्लस वायरस देखने को मिला है।

तमिलनाडु – यहां डेल्टा प्लस की एक मरीज सामने आई है। चेन्नई की 32 वर्षीय नर्स में यह वायरस मिला है। मगर अब वो भी रिकवरी पर है।

जम्मू कश्मीर – यहां भी एक ही मरीज सामने आया है। यह भी एक हेल्थ केयर वर्कर है, जो पूरी तरह रिकवर कर चुका है।

डेल्टा प्लस वैरिएंट के लक्षण

  • सूखी खांसी, बुखार और थकान शामिल डेल्टा प्लस वैरिएंट के सामान्य लक्षण हैं।
  • – सीने में दर्द, सांस फूलना या सांस लेने में तकलीफ और बात करने में तकलीफ होना इसके कुछ बहुत गंभीर लक्षण है।
  • डबल्यू एच ओ के अनुसार इसके कुछ सामान्य लक्षण त्वचा पर चकत्ते, पैर की उंगलियों के रंग में बदलाव होना, गले में खराश, स्वाद और गंध की हानि, दस्त और सिरदर्द हो सकते है।
About Author

Ankit Swetav