देश

भारत की पहली महिला पत्रकार को गूगल का सलाम !

भारत की पहली महिला पत्रकार को गूगल का सलाम !

होमी व्यारावाला. भारत की पहली महिला पत्रकार.  सबसे प्रसिद्ध  सर्च इंजन गूगल ने आज (9 दिसबंर, 2017) इनके जन्मदिन पर भारत की पहली महिला फोटो जर्नलिस्ट होमी व्यारावाला का डूडल बनाकर सलाम पेश किया है.  इसपर गूगल ने उनकी जयंती पर ढेर सारे पुराने चित्रों को सहेजकर एक कोलाज का रूप दिया है.
 Homai Vyarawalla
कौन है  होमी व्यारावाला?
गुजरात के पारसी परिवार में जन्मीं और पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित भारत की पहली महिला फोटो जनर्लिस्ट होमी व्याराल्ला. होमी व्याराल्ला का जन्म गुजरात में 9 दिसंबर 1913 को हुआ था. व्यारवाला का बचपन पिता और उनकी थिएटर कंपनी के साथ ट्रेवल करते हुए बीता.
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उनके एक दोस्त ने उन्हें फोटोग्राफी सिखाई थी. फोटोग्राफी सीखने के बाद उन्होंने अपने कैमरे से मुंबई के जन-जीवन की तस्वीरें लेना शुरू किया था. कुछ समय बाद उन्हें कम उम्र में ही नौकरी मिल गई.

गूगल द्वारा बनाया गया डूडल

व्यारवाला, डाल्डा 13 के नाम से जानी जाती थीं. कहा जाता है कि नाम में 13 उनके जन्म के साल 1913 से और डाल्डा उनकी कार के नंबर DLD 13 से लिया गया था.
होमी व्यारावाला ने अगस्त 1947 को लाल किले पर पहली बार फहराए गए झंडे, भारत से लॉर्ड माउंटबेटन की वापसी, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और लाल बहादुर शास्त्री की अंतिम यात्रा की भी तस्वीरें भी अपने कैमरे में कैद कीं थी.

1970 में पति की मौत के बाद उन्होंने फोटोग्राफी लगभग छोड़ ही दी. 1982 में वे अपने बेटे फारुख़ के साथ वड़ोदरा शिफ्ट हो गईं, लेकिन दुखों ने वहां भी उनका साथ नहीं छोड़ा और वर्ष 1898 में उनके बेटे की भी कैंसर के चलते मौत हो गई.
व्यारवाला ने 2011 में अपना सारा काम दिल्ली स्थित अल काज़ी फाउंडेशन ऑफ आर्ट्स को सौंप दिया. सिविलियन और पद्मा विभूषण अवॉर्ड से सम्मानित की जा चुकीं होमी का निधन 15 जनवरी 2012 को हुआ.

About Author

सुभाष बगड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *