आनंद गिरी का सीएम योगी को पत्र

आनंद गिरी का सीएम योगी को पत्र

अखाड़ा परिषद के नरेंद्र गिरी की आत्म हत्या पर बड़े-बड़े टिसूये बहा रहे हैं। कथित सुसाइड नोट में जिस आनंद गिरी का नाम है, वे तो हैं ही रंगीन मिज़ाज़,, अय्याश। लेकिन चार महीने पहले इस आनंद गिरी ने जो पत्र यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ को लिखा था, वह जस की तस पेश कर रहा […]

Read More
 गुजरात चुनाव नहीं यह है विजय रूपानी के इस्तीफे की असली वजह

गुजरात चुनाव नहीं यह है विजय रूपानी के इस्तीफे की असली वजह

गुजरात में मुख्यमंत्री विजय रुपानी को चुनाव से पहले हटाने की कई कयास हैं लेकिन मेरा मानना है की रुपानी ने केंद्र सरकार की मर्जी के विपरीत गुजरात में पीएम कृषि बीमा योजना को जो इस साल बंद कर दिया वह इसका मूल कारण है। फसल बीमा असल मने निजी बीमा कंपनियों की कमाई का […]

Read More
 क्या बेक़ाबू हो चुकी है Covid19 की दूसरी लहर ?

क्या बेक़ाबू हो चुकी है Covid19 की दूसरी लहर ?

इसे चेतावनी ही मान लें, कोरोना का आतंक और असर पिछले साल से कई गुना अधिक है । दिल्ली एनसीआर में अस्पताल में बिस्तर नहीं हैं, ऑक्सीजन नहीं है , वेंटिलेटर का अकाल है । भोपाल, पुणे जैसे शहर मौत घर बने हैं — सिवनी, छिंदवाडा हो या लखनऊ गुवाहाटी मौत नाच रही है । […]

Read More
 और बिहार में ऐसे पास किया गया विशेष पुलिस से सम्बंधित बिल

और बिहार में ऐसे पास किया गया विशेष पुलिस से सम्बंधित बिल

बिहार के संसदीय इतिहास में मंगलवार का दिन अमंगल के रूप में आया। पक्ष-विपक्ष की जिद ने ऐसी स्थिति पैदा की कि बिहार एकबार फिर शर्मसार हुआ। सुबह से शाम तक पुलिस बिल के खिलाफ सड़क से सदन तक संग्राम पसरा रहा। विपक्ष बिल को सदन में पेश होने से रोकने पर आमादा था। उसका […]

Read More
 नज़रिया – क्या महाराष्ट्र में किसी बड़ी पटकथा को अंजाम दिया जा रहा है ?

नज़रिया – क्या महाराष्ट्र में किसी बड़ी पटकथा को अंजाम दिया जा रहा है ?

मुंबई भारत का कुबेर है– अपना खजाना भरने के लिए हर दल यहा अपना रसूख रखना चाहता है — सबसे ज्यादा चन्दा और धन वाले दल की मुंबई हाथ से जाने की छटपटाहट किसी से छुपी नहीं है। अम्बानी के घर से बहुत दूर एक कार में थोड़ी सी जिलेटिन छड मिलने की सारी घटना […]

Read More
 पंजाब के 400 से ज़्यादा किसान और युवा आंदोलनकारी लापता

पंजाब के 400 से ज़्यादा किसान और युवा आंदोलनकारी लापता

किसान परेड के दौरान 26 जनवरी को लाल किला और दिल्ली के विभिन्न इलाकों में हिंसा के दौरान किसानों के लापता होने का मामला पंजाब में सियासी तौर पर गरमाने लगा है। सूबे के किसान संगठनों और धार्मिक संगठनों ने 400 से अधिक किसानों व नौजवानों के लापता होने का आरोप लगाया है और इस […]

Read More
 पूरी व्यवस्था के साथ दिल्ली की सीमाओं में कल से ही डंट गए थे किसान

पूरी व्यवस्था के साथ दिल्ली की सीमाओं में कल से ही डंट गए थे किसान

लगता है ये सारी रात सोये ही नहीं – गाज़ीपुर सीमा पर इस समय जहां तक निगाह जाती है तिरंगे दिख रहे हैं । भीड़ अनुमान से परे – असल में दस बजने तक संख्या कितनी बढ़ेगी? अनुमान नहीं- यहाँ अधिकांश किसानों के घर तीस से चालीस किलोमीटर दे दायरे में हैं — ये अपने […]

Read More
 क्या मध्यप्रदेश के मालवा अंचल को फ़िर से सांप्रदायिकता की पाठशाला बनाया जा रहा है ?

क्या मध्यप्रदेश के मालवा अंचल को फ़िर से सांप्रदायिकता की पाठशाला बनाया जा रहा है ?

यह बहुत दुखद है कि मध्य प्रदेश के मालवा इलाके को एक बार फिर साम्प्रदायिकता की पाठशाला के रूप में विकसित करने के प्रयास हो रहे हैं, जान लें मालेगांव धमाका, प्रज्ञा ठाकुर वाले सारे प्रकरण को देखें तो दिग्विजय सिंह की वह बात सच साबित होती है कि मालवा में हिंदूवादी लोग बम बनाने […]

Read More
 धर्मनिपेक्षता पर पंडित नेहरू के क्या विचार थे ?

धर्मनिपेक्षता पर पंडित नेहरू के क्या विचार थे ?

‘‘हम भारत में धर्मनिरपेक्ष राज की बात करते हैं। लेकिन संभवतः हिंदी में ‘सेक्यूलर’ के लिए कोई अच्छा शब्द तलाशना भी मुश्किल है। कुछ लोग समझते हैं कि धर्मरिपेक्ष का मतलब कोई धर्मविरुद्ध बात है। यह बिल्कुल भी सही नहीं है। इसका मतलब तो यह है कि एक ऐसा राज जो हर तरह की आस्था […]

Read More
 खालिद सैफी को बेल देते समय जज ने जो कहा वो आपको पढ़ना चाहिये

खालिद सैफी को बेल देते समय जज ने जो कहा वो आपको पढ़ना चाहिये

दिल्ली दंगों में पुलिस द्वारा निर्दोष लोगों को किस तरह फंसाया गया, इसकी बानगी के तौर पर कई मुकदमों में महज जमानत के लिए सुनवाई पर ही खुलासे हो चुके हैं। ताजा मसला खालिद सैफ़ी की केस 101/20 में जमानत का है। यूनाइटेड अगेंस्ट हेट के सदस्य ख़ालिद सैफी को दिल्ली की एक अदालत कोर्ट […]

Read More