हिंदू होटल, मुस्लिम होटल अथवा वैष्णव ढाबा लिखने के पीछे होती है, ये बड़ी वजह

हिंदू होटल, मुस्लिम होटल अथवा वैष्णव ढाबा लिखने के पीछे होती है, ये बड़ी वजह

दो में से एक बात हो सकती है। या तो ये मूर्ख हैं या फिर दूसरों को मूर्ख मानते हैं। कल फलों के ठेले की तस्वीर लगाई थी। एक उग्र दक्षिणपंथी संगठन ने उस ठेले पर अपना पोस्टर लगाकर सर्टिफिकेट जारी किया था कि ये “हिंदू” ठेला है। बहुत से लोगों को ऐसा करना नाग़वार […]

Read More
 दीपिका के JNU जाने के बाद, आई टी सेल काम पर लग गया

दीपिका के JNU जाने के बाद, आई टी सेल काम पर लग गया

ये तो होना ही था। दीपिका जेएनयू चली गई तो उसके पाकिस्तान कनेक्शन, मुस्लिम कनेक्शन, कांग्रेस कनेक्शन, कम्युनिस्ट कनेक्शन खोजे ही जाने थे। ना मिले तो जोड़े जाने थे। उसी में एक इकतरफा वेबसाइट को ऐसा चारा मिल गया जिसे भक्त चर सकें। उसने उड़ा दिया कि लक्ष्मी पर एसिड फेंकनेवाला असल में नदीम खान […]

Read More
 अब भला और कितना न्यू इंडिया चाहिए?

अब भला और कितना न्यू इंडिया चाहिए?

कॉलेजों में हिंसा की घटनाएं हों या एकाध ऐसा कानून जो नाइंसाफी से भरा हो ये तो अपवाद हो सकता है पर इस मुल्क में जो चल रहा है वो साफ साफ पैटर्न है। ये लोग खून पसंद करते हैं अब भी नहीं दिख रहा है क्या? ये विचार ही खूनी है जिसे ये देश […]

Read More
 भाभी को सती होते देख, राजा राम मोहन राय ने इसे खत्म करने की कसम खाई थी

भाभी को सती होते देख, राजा राम मोहन राय ने इसे खत्म करने की कसम खाई थी

जिन राजा राम मोहन राय की पेंटिंग के सामने मैंने तस्वीर खिंचाई और दो दिन पहले लगाई आज उनको याद करने का दिन है। 4 दिसंबर 1829 के दिन उनके अथक प्रयास रंग लाए थे और तत्कालीन गवर्नर जनरल लॉर्ड विलियम बेंटिंक ने सती प्रथा को कानूनन प्रतिबंधित कर दिया था। ये दीगर है कि […]

Read More
 नज़रिया – भारत का आधार धर्म नहीं धर्मनिरपेक्षता है

नज़रिया – भारत का आधार धर्म नहीं धर्मनिरपेक्षता है

सन् 85 के बाद पैदा होने वालों के साथ एक बड़ी दिक्कत हो रही है। इनमें से अधिकतर को देश और धर्म के बीच फर्क करना नहीं आ रहा है। ये दिक्कत कश्मीर में उन लोगों के साथ भी है जो सशस्त्र संघर्ष कर रहे हैं, और उनके भी साथ है जो बाकी भारत में […]

Read More
 क्या नरेंद्र मोदी ने झूठ पकड़ने वाले पत्रकारों का काम बढ़ा दिया है?

क्या नरेंद्र मोदी ने झूठ पकड़ने वाले पत्रकारों का काम बढ़ा दिया है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन पत्रकारों का काम वाकई बढ़ा दिया है जो उनके झूठ पकड़ने लायक पढ़े लिखे हैं। बाकी तो ‘हर हर मोदी’ के जप में व्यस्त हैं और एक दिन मनोवांछित वरदान की अपेक्षा रखते हैं। सोचा था कि नेहरू के खिलाफ दुष्प्रचार के खिलाफ आज कुछ आपके काम का लिखूं लेकिन […]

Read More
 नज़रिया – किसी परमाणु शक्ति संपन्न देश में घुसकर एयर स्ट्राइक करना बड़ी हिम्मत का काम है

नज़रिया – किसी परमाणु शक्ति संपन्न देश में घुसकर एयर स्ट्राइक करना बड़ी हिम्मत का काम है

आज भारत के लिए खुशी मनाने का दिन है। नींद में डूबे आतंकियों को मौत के आगोश में सुला देने के लिए भारतीय वायुसेना की जितनी तारीफ की जाए कम है। एक दर्जन हवाई जहाजों से हुई बमों की बारिश ने करोड़ों हिंदुस्तानियों के सिर गर्व से उठा दिए हैं। अमेरिका, रूस, इज़रायल, ब्रिटेन की […]

Read More
 अमोल पालेकर के भाषण को क्यों रोका गया ?

अमोल पालेकर के भाषण को क्यों रोका गया ?

हुकूमतें किसी की नहीं सुनतीं। उस अभिनेता की भी नहीं जिसने कूड़ा फिल्मों के दौर में भी आर्ट फिल्मों को ज़िंदा रखा। अगर कोई अभिनेता अपनी बात रखना चाहे तो सरकार के कारिंदे उसकी ज़ुबान पकड़ कर वापस कुर्सी पर बैठा देते हैं। अमोल पालेकर ने संस्कृति मंत्रालय के किसी फैसले पर अपनी असहमति जतानी […]

Read More

समीक्षा – निष्पक्ष नहीं है ठाकरे पर बनी फ़िल्म, छुपाये गए हैं कई सत्य

शिवसेना का सांसद ही शिवसेना के संस्थापक पर फिल्म लिखेगा तो उससे आप कितना निष्पक्ष रहने की उम्मीद करेंगे? तो बस, संजय राउत ने बाल ठाकरे के नाम पर जो एक ‘पृथ्वीराज रासो’ रच दिया है उसी का नाम फिल्म ‘ठाकरे’ है, मगर फिल्म बनाने वालों से एक गफलत हो गई। पूरी फिल्म में ठाकरे […]

Read More
 सपा-बसपा गठबंधन, उत्तरप्रदेश और 2019 लोकसभा चुनाव

सपा-बसपा गठबंधन, उत्तरप्रदेश और 2019 लोकसभा चुनाव

कांग्रेस में नेतृत्व भले ही बदला हो मगर अहंकार जस का तस है। पार्टी के नेताओं को समझ लेना चाहिए कि अब राष्ट्रीय और प्रादेशिक कुछ नहीं होता। चरण सिंह और देवेगौड़ा जैसे स्थानीय समझे जानेवाले नेताओं ने दिखाया है कि उनमें भी देश के सबसे बड़े पद को साध लेने का हुनर था, वो […]

Read More