बॉलीवुड

आखिर ऐसा क्या हुआ, लोकेंद्र सिंह राजावत का पैर काटना पड़ा

आखिर ऐसा क्या हुआ, लोकेंद्र सिंह राजावत का पैर काटना पड़ा

‘जोधा अकबर’, ‘CID’,‘क्राइम पेट्रोल’, ‘CID’ और ‘ये है मोहब्बतें’ जैसे चर्चित टीवी सीरियलों में काम करने वाले एक्टर इस समय अपने जीवन में बहुत मुश्किल हालातों से गुजर रहे हैं। करीब दो हफ्ते पहले लोकेंद्र को अपना एक पैर गंवाना पड़ा था। इस बात की जानकारी खुद लोकेंद्र ने यह जानकारी ई-टाइम्स के जरिए दी थी। दरअसल, बढ़ते ब्लड शुगर लेवल और मानिसक तनाव के कारण उनके पैर का घाव धीरे-धीरे नासूर बन गया और डॉक्टरों को उनका एक पैर काटना पड़ा।

घाव बढ़कर गैंग्रीन में हुआ तब्दील

लोकेंद्र ने अपनी बातचीत में बताया कि “इस सब की शुरुआत तब हुई जब मेरे पैर में छोटा सा कॉर्न (एक तरह का छाला) पड़ा। जिस पर मैंने ध्यान नहीं दिया। जिस कारण कुछ ही वक़्त में इन्फेक्शन मेरे बोनमैरो तक पहुंच गया। घाव बढ़ कर गैंग्रीन में तब्दील हो गया। जान बचाने का सिर्फ़ एक ही तरीका बचा था। पैर को घुटने तक कटवाना।”

लोकेंद्र पहले से ही मानसिक और शारीरिक और मानसिक परेशानियों से जूझ रहे थे। अब कोरोना वायरस ने उनकी तकलीफों को और बढ़ा दिया है। कोविड के दौरान कामकाज ठप्प हो जाने की वजह से लोकेंद्र आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। लोकेंद्र भारी मन से कहते हैं, “मैं कुछ नहीं कर पाता था। कोविड आने से पहले मैं बहुत अच्छे से काम कर रहा था। लेकिन धीरे-धीरे काम घटता गया। जिस वजह से घर पर आर्थिक परेशानियां बढ़तीं गईं।”

5 घंटे तक चला ऑपरेशन

लोकेंद्र ने अपना इलाज मुंबई के पर भक्तिवेदांता अस्पताल में इलाज करा रहे थे। इसी अस्पताल में उनके पैर काटने का ऑपेरशन करीब पांच घंटे तक चला था। आज लोकेंद्र अपनी लापरवाही पर अफसोस जताते हैं। उनका कहना है कि अगर उन्होंने समय से पैर के घाव का इलाज करवा लिया होता, तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता। लोकेंद्र कहते हैं कि “मैं सोचता हूं काश मैंने डायबिटीज़ पर 10 साल पहले ध्यान दिया होता जब इसकी शुरुआत हुई थी। हम एक्टर्स की कोई फिक्स्ड टाइमिंग नहीं होती। बेवक़्त खाने और काम की वजह से हमारे स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ता है। ऊपर से मानसिक तनाव भी। इन सब वजहों से डायबिटीज़ हो जाती है। भले आप मीठा खाने के उतने शौकीन ना भी हों।”

About Author

Heena Sen