बिहार की राजनीति में कायस्थ और मुस्लिम लीडरशिप की भूमिका, इतिहास और वर्तमान

बिहार की राजनीति में कायस्थ और मुस्लिम लीडरशिप की भूमिका, इतिहास और वर्तमान

बिहार दिवस मना रहे हैं, बिहार के बंगाल से अलग हो कर 1912 में ख़ुद-मुख़्तार राज्य बनने की ख़ुशी में. बहुत मेहनत की थी अलग राज्य बनाने में हमारे बुज़ुर्गों ने. सियासत और कूटनीत का बेहतरीन नमुना पेश करते हुए हुकमत के नज़दीक रहने वाले बंगाली भाईंयों के नाक के नीचे से बिहार को अलग […]

Read More
 नज़रिया – समाजवाद, मुस्लिम और धर्मनिरपेक्ष सियासत

नज़रिया – समाजवाद, मुस्लिम और धर्मनिरपेक्ष सियासत

2014 के आम चुनाव में पूरे देश से लगभग 23 मुस्लिम लोकसभा सदस्य चुने गए थे, और आपको जानकर आश्चर्य होगा कि ये सभी लोग वहीं से जीते थे जहाँ मुस्लिमों की आबादी उस लोकसभा क्षेत्र में सबसे अधिक थी। एक भी सीट ऐसी जगह से नहीं जीते जहाँ इनकी आबादी 30% से कम थी, […]

Read More
 नज़रिया – यूपी निकाय चुनाव में सपा से क्यों छिटका मुस्लिम वोटर्स

नज़रिया – यूपी निकाय चुनाव में सपा से क्यों छिटका मुस्लिम वोटर्स

यादव जाति से ताल्लुक रखने वाले नेताओं को समाजवादी पार्टी के लिए एक बलिदान देने की ज़रूरत है। चूंकि समाज का बड़ा तबका अब इस जाति की राजनैतिक महत्वकांक्षा का उतना ही विरोधी बन गया है जितना कभी ब्राह्मणों का विरोधी था। सबसे ज्यादा यादवों का विरोध पिछड़ी जाति के कुर्मी,मल्लाह, कोईरी,कुशवाहा, केवट आदि करने […]

Read More