मोदी सरकार के झूठ की पराकाष्ठा है, कोर्ट में दायर हलफनामा

मोदी सरकार के झूठ की पराकाष्ठा है, कोर्ट में दायर हलफनामा

सुप्रीम कोर्ट हो या कोई भी कोर्ट, हलफनामा हो या कोई भी कागज, यह सरकार का कोई मंत्री नहीं देखता है। यह उस विभाग का सचिव अगर मामला बहुत महत्वपूर्ण रहा तो वह देखता है या संयुक्त सचिव। हलफनामे में क्या जाएगा, क्या भाषा होगी, सरकार के पक्ष के अनुसार उसे ड्राफ्ट किया जाता है […]

Read More