ये थी पंडित नेहरू की आखिरी इच्छा

ये थी पंडित नेहरू की आखिरी इच्छा

आज भारत में हर खराब स्तिथि के लिए सिर्फ नेहरू को जिम्मेदार माना जाता है। पर आज जिस आधुनिक भारत में हम जी रहे हैं, उसके लिए हमे देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का शुक्रगुजार होना चाहिए। जवाहर लाल नेहरू को आधुनिक भारत का जनक कहा जाता है। भारत जिस समय आजाद हुआ […]

Read More
 यह दुष्प्रचार है कि नेहरू ने पटेल को अपनी कैबिनेट में मंत्री बनाने से मना कर दिया था

यह दुष्प्रचार है कि नेहरू ने पटेल को अपनी कैबिनेट में मंत्री बनाने से मना कर दिया था

विदेश मंत्री जयशंकर ने एक ट्वीट कर के कहा है कि, ” मुझे एक पुस्तक से ज्ञात हुआ है कि 1947 मे जो पहली कैबिनेट बनी थी, उसमे सरदार बल्लभ भाई पटेल का नाम नहीं था। यह एक बहस का मुद्दा है। पुस्तक की लेखक इस तथ्य के उद्घाटन पर दृढ़ हैं। ” ट्वीट इस […]

Read More
 जब 5 फ़रवरी 1950 को भीमराव अंबेडकर ने संसद में हिंदू कोड बिल पेश किया

जब 5 फ़रवरी 1950 को भीमराव अंबेडकर ने संसद में हिंदू कोड बिल पेश किया

5 फरवरी 1950 को आज ही के दिन हिंदू कोड बिल संविधान सभा में डॉक्टर अंबेडकर द्वारा पेश किया गया था। उस वक्त संविधान सभा में और सड़क में इस बिल का पहले से विरोध हो रहा था। तब इस बिल के कारण अंबेडकर और नेहरू को बहुत आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। हिंदुओं […]

Read More
 भारतीय अस्मिता की खोज और जवाहरलाल नेहरू

भारतीय अस्मिता की खोज और जवाहरलाल नेहरू

नेहरु के जन्मदिन पर यह विद्वतापूर्ण लेख हिन्दी आलोचना के शिखर पुरुष और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय जेएनयू के प्रोफेसर रहे स्वर्गीय नामवर सिंह का नेहरू पर एक व्याख्यान है। आपको अगर अकादमिक रुचि है तो, आप यह लेख पढ़ सकते हैं। प्रथम प्रधानमन्त्री और आधुनिक भारत के निर्माता जवाहरलाल नेहरु लेखक भी थे। ‘The Discovery […]

Read More
 नेहरू की तरह नरेंद्र मोदी के पास बौद्धिक लोगो का वर्ग नही है

नेहरू की तरह नरेंद्र मोदी के पास बौद्धिक लोगो का वर्ग नही है

4 साल सत्ता मे रहने के बावजूद नरेंद्र मोदी अपने खुद का मजबूत एलीट वर्ग (अभिजात वर्ग) तैयार करने मे नाकाम रहे हैं। उनके परम्परागत और सोशल मीडिया मे मजबूत समर्थक हैं। उनके पास कुछ बौद्धिक लोग हैं जो उनके समर्थन मे मुख्यधारा के अखबारो मे कालम लिखते हैं। कार्पोरेट वर्ल्ड मे भी उनके वफादार […]

Read More
 आज़ादी के जश्न के समय क्या कर रहे थे "महात्मा गांधी"

आज़ादी के जश्न के समय क्या कर रहे थे "महात्मा गांधी"

जब अपने देश को 15 अगस्त को आजादी नसीब हुई थी, तब गांधी जी ने कहा कि आजादी की घोषणा गांवो और शहरों में एक साथ की जाये. उस समय नेहरू गाँधीजी के सबसे नज़दीक़ी शिष्य थे और नेहरू बहुत तीक्ष्ण बुद्धि वाले थे. और  उन्हें विदेशी मामलों का बहुत गहरा ज्ञान था. भारत की […]

Read More
 जन्मदिन विशेष –  धर्मनिरपेक्षता के पैरोकार पंडित नेहरू

जन्मदिन विशेष – धर्मनिरपेक्षता के पैरोकार पंडित नेहरू

आज स्वंतत्रता सेनानी, भारतरत्न और भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जयंती है. आइये हम उनके भारत के प्रधानमंत्री रहते हुए बिताये कुछ अभूतपूर्व पलों को संजोते हुए उनके एक किस्से याद करते है. अधिकांश किस्से इतिहासकार व लेख़क  रामचंद्र गुहा रचित किताब ‘इंडिया आफ्टर गाँधी’ से उद्धृत है. आजादी के बाद वाले दशक […]

Read More
 गाँधी के भारत में क्या क्या है, सरदार पटेल के नाम पर

गाँधी के भारत में क्या क्या है, सरदार पटेल के नाम पर

सरदार पटेल की जयंती के दिन उनके नाम पर खूब राजनीतिक बयानबाजियां हुई. किसी ने उन्हें श्रद्धांजलि दिया तो किसी ने उनके द्वारा लगाए गए आरएसएस पर प्रतिबन्ध और की गई टिपण्णी का ज़िक्र किया. सोशलमीडिया भी सरदार पटेल से समबन्धित पोस्ट्स से भर दी गई. फ़ेसबुक हो या ट्विट्टर सभी जगह सरदार पटेल पर […]

Read More