सांप्रदायिकता के विरोधी थे "स्वामी विवेकानंद"

सांप्रदायिकता के विरोधी थे "स्वामी विवेकानंद"

स्वामी विवेकानंदजी आधुनिक भारत के एक महान चिंतक, महान देशभक्त, दार्शनिक, युवा संन्यासी, युवाओं के प्रेरणास्रोत और एक आदर्श व्यक्तित्व के धनी थे.भारतीय नवजागरण का अग्रदूत यदि स्वामी विवेकानंद को कहा जाए तो यह अतिशयोक्ति नहीं होगी. स्वामी विवेकानंद भारतीय संस्कृति के प्रचारक-प्रसारक एवं उन्नायक के रूप में जाने जाते हैं.भारतीय केंद्र सरकार ने वर्ष […]

Read More