राम से क्या काम, छलकाईये जाम, भाजपा में नरेश आये हैं

राम से क्या काम, छलकाईये जाम, भाजपा में नरेश आये हैं

“व्हिस्की में विष्णु बसे, रम में श्री राम, जिन में माता जानकी, ठर्रे में हनुमान।” उपरोक्त बयान संत तुलसीदास के नहीं बल्कि संत नरेश अग्रवाल के हैं, जो समाजवादी पार्टी से निकल कर भाजपा में आ चुके हैं। जुलाई 2017 में जब राज्य सभा में उन्होंने अमृत वचन कहे थे तब भाजपा के नेता पर […]

Read More
 सेकुलर दलों के दूसरे नेताओं का भी कोई भरोसा नहीं

सेकुलर दलों के दूसरे नेताओं का भी कोई भरोसा नहीं

नरेश अग्रवाल चले गए, जाने दीजिए, आना जाना तो लगा ही रहता है, वैसे इस तरह सो काल्ड सेक्यूलर दल से भाजपा में शामिल होने वाले नेताओ की लंबी फेरहिस्त है, इस मामले में आप सिर्फ मुस्लिम नेताओ पर ही ( वो भी 98%) भरोसा कर सकते हैं बाकी 2% उन नेताओ के लिए छोड़ […]

Read More