इस दौर के नेताओं को Ghulam Nabi Azad से संसदीय बर्ताव सीखना चाहिए

इस दौर के नेताओं को Ghulam Nabi Azad से संसदीय बर्ताव सीखना चाहिए

समय हर एक सत्ताधीश को मौका देता है गुलाम नबी आज़ाद बनने का,कोई बन जाता है और कोई चूक जाता है । आज जब ग़ुलाम नबी आज़ाद के अपनेपन पर आँसू आँख मे आए होंगे, तो सामने भले ही गुलाम नबी होंगे मगर ज़हन में कहीं एहसान जाफरी भी होंगे,की काश उस वक़्त दिल बड़ा […]

Read More