व्यक्तित्व – कहते हैं कि, ग़ालिब का है अंदाज़ ए बयां और

व्यक्तित्व – कहते हैं कि, ग़ालिब का है अंदाज़ ए बयां और

आह को चाहिये, इक उम्र असर होने तक, कौन जीता है, तेरी ज़ुल्फ़ के सर होने तक ( ग़ालिब ) आह, का असर हो, इसके लिए, एक उम्र यानी एक लंबा वक़्त चाहिए। तुम्हारे सुन्दर कुंतल राशि पर मेरा अधिकार हो , यह इस जन्म में संभव नहीं है। जितना समय उस कुंतल पर अधिकार […]

Read More
 मिर्ज़ा ग़ालिब – यानी बाबा-ए-सुखन

मिर्ज़ा ग़ालिब – यानी बाबा-ए-सुखन

मिर्ज़ा गा़लिब के यौमे पैदाइश के बारे मे सही इल्म नहीं है। फिर भी जो सनद हासिल हैं उनके ज़रिए मालूम होता है कि 27 दिसंबर 1796 आगरा में इस हस्ती ए अजी़म ने इस धरती में जन्म लिया। हाँ इसमें सभी का इत्तेफाक है कि 15 फरवरी 1869 को ये शायर ए आज़म इस […]

Read More