मोदी तो मुखौटा हैं, कॉरपोरेट के हिसाब से तय हो रही श्रमनीति

मोदी तो मुखौटा हैं, कॉरपोरेट के हिसाब से तय हो रही श्रमनीति

नौकरीपेशा लोगों के लिए…या यूं कहिए केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों को छोड़ हर नौकरीपेशा व्यक्ति के लिए…10 अगस्त 2017 को केंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने लोकसभा में The Code on Wages Bill, 2017 पेश किया…इसका उद्देश्य बताया जा रहा है कि असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए पूरे देश में ‘न्यूनतम भत्ता’ […]

Read More