नज़रिया – नंगे पाँव चलता किसान उनको माओवादी नज़र आता है

नज़रिया – नंगे पाँव चलता किसान उनको माओवादी नज़र आता है

क्या किसी विरोधी विचारधारा के किसान संगठन के बैनर तले इकठ्ठा होकर किसान प्रदर्शन करें तो भारतीय जनता पार्टी और संघ के लोगों को किसानों की मांग और प्रदर्शन पर सवाल उठाने का अधिकार मिल जाता है. देश की लगभग हर राजनीतिक पार्टी और विचारधारा सरे सम्बन्ध रखने वाले अलग-अलग संगठन कार्य कर रहे हैं. […]

Read More