साहित्य – हज़ारों किताबों के निचोड़ कि तरह है "सलाम बस्तर"

साहित्य – हज़ारों किताबों के निचोड़ कि तरह है "सलाम बस्तर"

इस किताब यानी “सलाम बस्तर” को पढ़ कर जैसे मैं सत्तर के दशक में घूम आया हूँ और वो मेरे सामने से ही निकला चला गया,जहाँ तमाम विवादित गतिविधियों ने पेर पसारे थे और विरोध और समर्थन हुए थे,जी हां बात हो रही है,भारत के माओवादी आंदोलन की जहां एक बीहड़ जंगल मे बैठ कर […]

Read More